Home समाचार भारतीय वायुसेना की ताकत बढ़ी, शामिल हुए 8 अपाचे हेलीकॉप्टर

भारतीय वायुसेना की ताकत बढ़ी, शामिल हुए 8 अपाचे हेलीकॉप्टर

225
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में रक्षा क्षेत्र में भारत की ताकत लगातार बढ़ती जा रही है। जल, थल और नभ तीनों में भारत की मारक क्षमता बढ़ी है। मंगलवार को अमेरिका निर्मित आठ अपाचे एएच-64ई (Apache AH-64E) लड़ाकू हेलीकॉप्टर वायुसेना में शामिल किए गए। वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल बीएस धनोआ की मौजूदगी में पंजाब के पठानकोट एयरबेस पर 8 अपाचे हेलिकॉप्टर को शामिल कराया गया। वायुसेना के बेड़े में अपाचे हेलिकॉप्टर का पारंपरिक तौर पर स्वागत किया गया। भारतीय वायुसेना में 8 अपाचे लड़ाकू हेलीकॉप्टर को शामिल करने से पहले उसे वाटर कैनन से सलामी दी गई।

इस अवसर पर वायुसेना प्रमुख धनोआ ने कहा कि अपाचे हेलीकॉप्टर भारतीय वायु सेना की अभियान और मारक क्षमताओं में वृद्धि करेंगे। उन्होंने कहा कि अपाचे हेलीकॉप्टर का भारतीय वायु सेना के बेड़े में शामिल होना इसके आधुनिकीकरण की दिशा में महत्वपूर्ण कदम है। धनोआ ने कहा कि आधुनिक तकनीक से लैस अपाचे हेलिकॉप्टर सभी मौसम में दिन-रात तेजी से कार्रवाई करने में सक्षम हैं।

अबतक भारतीय वायुसेना को कुल 12 ‘अपाचे हेलिकॉप्टर’ मिल चुके हैं। इसके पहले वायुसेना को चार अपाचे हेलिकॉप्टर की पहली खेप 27 जुलाई को मिली थी। भारत ने सितंबर 2015 में अमेरिकी सरकार और बोइंग कंपनी के साथ कुल 22 अपाचे हेलिकॉप्टर के लिए समझौता किया था। अपाचे दुनिया के सबसे एडवांस्ड मल्टी-रोल लड़ाकू हेलिकॉप्टरों में से एक है। इसका इस्तेमाल अमेरिकी सेना भी करती है।

अमेरिकी कंपनी बोइंग निर्मित एएच-64 ई अपाचे को दुनिया का सबसे आधुनिक और घातक हेलीकॉप्टर माना जाता है। इसे चीन और पाकिस्तानी सीमा पर तैनात किया जाएगा। इस हेलिकॉप्‍टर में भारत की जरूरत के हिसाब से बदलाव किया गया है। अपाचे के मिलने से वायुसेना की ताकत में काफी ज्यादा बढ़ोत्तरी होगी।

यह रॉकेट, टैंकभेदी मिसाइलों और जमीन पर दुश्मन के ठिकानों पर हमला करने के लिए मशीनगन से लैस होता है। यह दुश्‍मन की किलेबंदी को भेदकर और उसकी सीमा में घुसकर हमला करने में सक्षम है। अपाचे हर मौसम में सटीक हमला कर सकता है। यह रात के अंधेरे में भी उड़ान भर सकता है।

अपाचे अटैक हेलिकॉप्‍टर को ‘लादेन किलर’ के नाम से भी जाना जाता है। सन 2011 में उसका इस्‍तेमाल पाकिस्‍तान के अंदर घुसकर अलकायदा चीफ ओसामा बिन लादेन को मारने के लिए किया था, जिसकी पाकिस्‍तानी सेना को भनक तक नहीं लगी थी। भारत को इससे पहले चिकून हैवीलिफ्ट हेलीकॉप्टर मिल चुका है।

Leave a Reply