Home नरेंद्र मोदी विशेष अब एवरग्रीन रिवॉल्यूशन का लक्ष्य लेकर चलना है- पीएम मोदी

अब एवरग्रीन रिवॉल्यूशन का लक्ष्य लेकर चलना है- पीएम मोदी

1550
SHARE

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि भारत में जैसे एक बार ग्रीन रिवॉल्यूशन हुआ…उसी तरह अब एक एवरग्रीन रिवॉल्यूशन का लक्ष्य लेकर चलना है। पीएम मोदी ने हरित क्रांति के जनक माने जाने वाले वयोवृद्ध कृषि वैज्ञानिक डॉक्टर एम एस स्वामिनाथन की दो किताबों का विमोचन करते हुए ये बातें कहीं। इस मौके पर पीएम मोदी ने डॉक्टर स्वामिनाथल की बहुत प्रशंसा की और युवा पीढ़ी को उनके जीवन से सीखने की सलाह दी

पूर्वी भारत में हो एवरग्रीन रिवॉल्यूशन

पीएम मोदी ने इस बात पर जोर दिया कि गेहूं और धान की फसलों को लेकर ग्रीन रिवॉल्यूशन देश के पश्चिमी हिस्से में हुआ तो एवरग्रीन रिवॉल्यूशन में धान की फसल के लिए पूर्वी हिंदुस्तान को चुना जा सकता है। प्रधानमंत्री के अनुसार देश के पूर्वी भाग में पानी उपलब्ध है इसलिए एवरग्रीन रिवॉल्यूशन के लिए उसकी क्षमता की पड़ताल करने की आवश्यकता है। पीएम के अनुसार खाने में पोषक तत्व बढ़ाने के लिए तिलहन और दलहन का पैदावार बढ़ाना भी हमारे युवा वैज्ञानिकों का लक्ष्य होना चाहिए।

कृषि में तकनीक और विज्ञान के इस्तेमाल पर जोर

प्रधानमंत्री ने जनसंख्या बढ़ोत्तरी पर चिंता जताते हुए, ज्यादा और उच्च गुणवत्ता वाले उत्पादन पर जोर दिया और सॉयल मैनेजमेंट पर ध्यान देने की बात कही। उनके अनुसार ये तभी संभव है जब हम कृषि क्षेत्र में तकनीक और विज्ञान का भी भरपूर उपयोग करें। पीएम ने कहा कि कृषि के लिए जल संकट को दूर करने के लिए सरकार PER DROP MORE CROP और नदियों को जोड़ने के अभियान पर काम कर रही है। उन्होंने कहा कि उपज बढ़े लेकिन खाद का गैर-जरूरी उपयोग न हो, इसके लिए नीम कोटेड यूरिया का प्रयोग काफी सफल हुआ है। यूरिया की चोरी तो रुकी ही है, गेहूं और धान का पैदावार भी बढ़ गया है।

इस अवसर पीएम ने युवा पीढ़ी को डॉक्टर स्वामिनाथन जैसे वैज्ञानिक से सीख लेने की प्रेरणा दी। पीएम ने कहा कि आज सॉयल हेल्थ कार्ड काफी लोकप्रिय बन गया है। लेकिन गुजरात में सीएम रहते हुए जब उन्होंने इसे शुरू किया था, तो अफसरों को उसकी अहमियत का पता तब चला जब डॉक्टर स्वामिनाथन ने उसकी प्रशंसा की।

Leave a Reply