Home नरेंद्र मोदी विशेष पुलवामा के सभी दोषियों का हिसाब होगा, हिसाब पूरा होगा- प्रधानमंत्री मोदी

पुलवामा के सभी दोषियों का हिसाब होगा, हिसाब पूरा होगा- प्रधानमंत्री मोदी

660
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने एक बार फिर कहा है कि पुलवामा के सभी दोषियों को सजा दी जाएगी। राजस्थान के टोंक में एक जनसभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि दुनिया में तब तक शांति कायम नहीं हो सकती, जब तक आतंक की फैक्ट्रियों पर ताला नहीं लग जाता। आतंक से लड़ने की भारत की प्रतिबद्धता को दुहराते हुए उन्होंने कहा कि आतंकवाद का खात्मा भी अगर मेरे हाथों ही होना है, तो ऐसा ही सही। पीएम मोदी ने जहां एक ओर देश में पाकिस्तान की भाषा बोलने वाले लोगों की आलोचना की, वहीं पुलवामा की घटना से आक्रोशित युवाओं से अपील की कि हमें कोई भी ऐसा काम नहीं करना चाहिए, जिससे देश में अलगाववादी शक्तियों और उनके समर्थकों को ताकत मिले।  

पीएम मोदी ने कहा कि आज आतंक के विरुद्ध पूरी दुनिया में एक व्यापक मत बन चुका है। आतंक के गुनहगारों को सजा देने के लिए हर मोर्चे पर मजबूती के साथ हम आगे बढ़ रहे हैं। आतंक के खिलाफ लड़ने का संकल्प 130 करोड़ हिन्दुस्तानियों का है। ये राजनीति से ऊपर राष्ट्रनीति और राष्ट्र की सुरक्षा का सवाल है। उन्होंने कहा कि टोंक और सवाई माधोपुर की धरती से मैं पुलवामा में बलिदान देने वाले वीर शहीदों को नमन करता हूं। मैं इन वीर सपूतों को जन्म देने वाली माताओं और उनके पूरे परिवार के प्रति कृतज्ञ राष्ट्र की तरफ से फिर से अपनी संवेदना व्यक्त करता हूं।पीएम मोदी ने कहा कि मुझे अपने वीर जवानों पर गर्व है, जिन्होंने 100 घंटे के भीतर ही अपने साथियों पर हुए हमले के एक गुनहगार को वहां पहुंचा दिया, जहां उसकी असली जगह थी। पुलवामा हमले के बाद आपने देखा है कि कैसे एक-एक करके पाकिस्तान का हिसाब लिया जा रहा है। हमारी सरकार के फैसलों की वजह से वहां हड़कंप मचा हुआ है। देश में रह कर अलगाववाद को हवा दने वाले लोगों पर भी कार्रवाई हो रही है, अभी और कार्रवाई होगी। उन्होंने कहा, ये बदला हुआ हिन्दुस्तान है। ये दर्द सह कर चुपचाप बैठने वाला नहीं है। हम आतंक को कुचलना जानते हैं। ये नई रीति और नई नीति वाला भारत है। सेना को हमने पूरी तरह खुली छूट दे दी है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हमारी लड़ाई आतंकवाद के खिलाफ है, हमारी लड़ाई कश्मीर के लिए है, लेकिन, कश्मीर और कश्मीरियों के खिलाफ नहीं है। कश्मीर का बच्चा-बच्चा भी इन आतंकवादियों से परेशान है। वो भी आतंकवाद को खत्म करने के लिए हमारे साथ आने को तैयार है। कश्मीर के लाल भी आतंकवाद में शहीद होते हैं। कश्मीर में 40 साल से तीन जिलों में कुछ मुट्ठी भर लोगों की मदद से आतंकवाद का खेल चल रहा है। बाकी इलाके के लोग शांति चाहते हैं। मेरी अपील पर कश्मीर के पंच-सरपंचों ने आतंकवादियों के हाथों एक भी स्कूल जलने नहीं दिया। स्थानीय चुनाव में 70-75 प्रतिशत मतदान हुआ। कश्मीरियों के सपने हिन्दुस्तान और यहां की सरकार ही पूरा करेगी। आज प्रत्येक हिन्दुस्तानी देश की सेना, देश की भावना के साथ है। मुट्ठी भर लोग भारत में रहकर पाकिस्तान की भाषा बोल रहे हैं। पीएम मोदी ने युवाओं से अपील की कि हमें ऐसा कोई काम नहीं करना चाहिए, जिससे ‘भारत तेरे टुकड़े होंगे, इंशा अल्ला, इंशा अल्ला’ गैंग को आशीर्वाद देने वालों को ताकत मिले।   प्रधानमंत्री मोदी ने पिछले साढ़े चार साल में अपनी सरकार की उपलब्धियों की चर्चा करते हुए कहा कि हमारी सरकार जो वादा करती है, उसे निभाती भी है। हमने किसानों को लागत का डेढ़ गुना एमएसपी देने का वादा किया था। इस वादे को पिछले साल पूरा किया जा चुका है। बजट में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना भी लाई गई है। इसके तहत, अगले दस वर्षों में साढ़े सात लाख करोड़ रुपये किसानों के बैंक खातों में जमा होने वाले हैं। 5 एकड़ से कम जमीन वाले राजस्थान के 50 लाख किसान परिवारों को इस योजना का लाभ मिलेगा। इससे बीज, खाद, कीटनाशक आदि के लिए उन्हें कर्ज नहीं लेना पड़ेगा। खेती के साथ-साथ पशुधन को बेहतर बनाने के लिए, गोमाता और गोवंश के संरक्षण के लिए भी फैसला किया गया है। कामधेनु योजना के तहत गाय की सुरक्षा और संरक्षण के लिए बजट में 500 करोड़ की व्यवस्था की गई है। ऐसे बड़े काम तभी संभव होते हैं, जब सरकार सेवा भाव से काम करती है, साफ मन से काम करती है।पीएम मोदी ने कहा कि बीते साढ़े चार साल में ऐसे अनेक काम हमने किए। ये बातें जमीन पर इसलिए उतर पाईं, क्योंकि लोगों को विश्वास है कि मोदी है तो मुमकिन है ! हमने बरसों से अटके ‘वन रैंक वन पेंशन’ को लागू किया, 11000 करोड़ रुपये के एरियर भी दे दिए।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, क्या कोई सोच सकता था कि ऐसी सरकार आएगी जो धुएं से हमारी माताओंबहनों को मुक्ति देगी? हमने राजस्थान में करीब 50 लाख गैस कनेक्शन दिए। वर्ष 2022 तक हर बेघर को पक्का घर देने की दिशा में हम तेज गति से आगे बढ़ रहे हैं। पिछले साढ़े चार साल में डेढ़ करोड़ परिवारों को पक्के घर की चाबी दे दी जा चुकी है। जनधन योजना के तहत राजस्थान के ढाई करोड़ गरीबों के बैंक खाते खुलवाए गए। सिर्फ एक रुपया महीना और नब्बे पैसे प्रतिदिन की प्रीमियम पर गरीबों को दोदो लाख की बीमा का सुरक्षा कवच मिला। राजस्थान के करीब 70 लाख गरीब परिवार इससे जुड़े हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि हमारी सरकार ने गरीबों को दस प्रतिशत आरक्षण का कानून बनाया। किसी भी वर्ग के आरक्षण को छेड़े बिना यह आरक्षण दिया गया। उच्च शिक्षा के संस्थानों में सीटों की संख्या 25 प्रतिशत तक बढ़ाने का भी फैसला किया गया है, ताकि बाकी साथियों को भी कोई परेशानी न झेलनी पड़े। ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ योजना का राजस्थान में बहुत सकारात्मक प्रभाव देखा गया। मातृत्व अवकाश को 12 हफ्ते से बढ़ाकर 26 हफ्ते करने का फैसला किया गया।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आज देश आत्मविश्वास से भरा है। ये तभी हुआ है, जब दशकों के इंतजार के बाद वन रैंक वन पेंशन प्राप्त हुई, किसानों को सीधी सहायता मिली, गरीबों को आरक्षण मिला, मुफ्त इलाज की आयुष्मान योजना मिली, देश की साख बढ़ी और दुश्मन में करारे जवाब का खौफ पैदा हुआ। 

Leave a Reply