Home नरेंद्र मोदी विशेष नीति आयोग की बैठक में बोले प्रधानमंत्री मोदी- 2022 तक न्यू इंडिया...

नीति आयोग की बैठक में बोले प्रधानमंत्री मोदी- 2022 तक न्यू इंडिया का विजन अब देश के लोगों का संकल्प

1108
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में नीति आयोग की चौथी गवर्निंग काउंसिल बैठक राजधानी दिल्ली में हुई। बैठक के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने मुख्यमंत्रियों और अन्य प्रतिनिधियों का स्वागत करते हुए कहा, “नीति आयोग गवर्निंग काउंसिल एक ऐसा मंच है जो ऐतिहासिक परिवर्तन ला सकता है।” उन्होंने कहा कि नीति आयोग गवर्निंग काउंसिल ने टीम इंडिया की तरह काम किया है। प्रधानमंत्री ने जीएसटी लागू करने को इसका प्रमुख उदाहरण बताया है। उन्होंने कहा कि साल 2022 तक एक नए भारत का विजन अब हमारे देश के लोगों का संकल्प है। प्रधानमंत्री ने बाढ़ प्रभावित राज्यों के मुख्यमंत्रियों को आश्वासन दिया कि बाढ़ से निपटने के लिए केंद्र सरकार उन्हें सभी प्रकार की सहायता मुहैया कराएगी।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि 2017-18 की चौथी तिमाही में भारतीय अर्थव्यवस्था 7.7 प्रतिशत की दर से बढ़ी है। उन्होंने कहा कि चुनौती अब इस विकास दर को दो अंकों तक ले जाने की है, जिसके लिए कई और महत्वपूर्ण कदम उठाए जाने हैं। इस संदर्भ में श्री मोदी ने किसानों की आय दोगुनी करना, महत्वाकांक्षी जिलों का विकास, आयुष भारत, मिशन इंद्रधनुष, आयुष्मान भारत, राष्ट्रीय पोषण मिशन और महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर देशभर में जश्न मनाने सहित कई अहम मुद्दों पर चर्चा की।

पीएम मोदी ने कहा कि आयुष्मान भारत के तहत 1.5 लाख स्वास्थ्य और कल्याण केंद्रों का निर्माण किया जा रहा है। इसके तहत लगभग 10 करोड़ परिवारों को स्वास्थ्य बीमा प्रदान किया जाएगा। 

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि मुद्रा योजना, जन धन योजना और स्टैंड अप इंडिया जैसी योजनाएं अधिक वित्तीय समावेश में मदद कर रही हैं। ग्राम स्वराज अभियान योजनाओं को लागू करने के लिए एक नए मॉडल के रूप में उभरा है। उन्होंने कहा कि अब तक ग्राम स्वराज अभियान को महत्वाकांक्षी जिलों में 45,000 गांवों तक बढ़ा दिया गया है। उन्होंने प्राथमिकता पर आर्थिक असंतुलन से निपटने की आवश्यकता पर जोर दिया है।

बैठक के दौरान कई राज्यों के मुख्यमंत्री ने अपने राज्य के विकास के लिए केंद्र के सामने मांगे रखीं। इस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि उनकी मांगों पर गंभीरता से विचार किया जाएगा। दो दिन तक चलने वाली इस बैठक में राज्यों के मुख्यमंत्री, केंद्र शाषित प्रदेशों के उप राज्यपाल और कैबिनेट मंत्री हिस्सा ले रहे हैं। बैठक में पिछले साल हुए कार्यों की समीक्षा और आने वाले साल के लिए विकास के एजेंडे को किस तरह आगे बढ़ाया जाए, इसकी रूपरेखा तय की जाएगी।

 

Leave a Reply