Home समाचार National Youth Parliament: मेरे सामने है न्यू इंडिया की नई तस्वीर- प्रधानमंत्री...

National Youth Parliament: मेरे सामने है न्यू इंडिया की नई तस्वीर- प्रधानमंत्री मोदी

385
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को नेशनल यूथ पार्लियामेंट फेस्टिवल 2019 में मेरे सामने न्यू इंडिया की नई तस्वीर है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा हमें नए विचारों को लाने की जरूरत है, वैसे विचार जो समाज और देश को जोड़ता हो। उन्होंने कहा कि मेरे सामने न्यू इंडिया की तस्वीर है। उन्होंने कहा कि मैं जब भी आप जैसे ऊर्जावान लोगों से मिलता हूं, मेरे भीतर भी जोश भर जाता है।

यूथ पार्लियामेंट में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि जो लोग सिलेबस में बंधे होते हैं, वे लोग यहां नहीं आते हैं। यहां अगर आप लोग आए हैं तो इसका मतलब है कि आप सिलेबस के बाहर भी देखते और पढ़ते हैं। क्योंकि परोसा हुआ माल गड़बड़ होता है। इसलिए मुझे यकीन है कि आप परोसे हुए माल के अलावा भी देखते हैं। उम्मीद है आप युवा परोसी हुई चीज नहीं ग्रहण करते होंगे, बल्कि खुद फैक्ट ढूंढते होंगे। बिनोवा भावे कहते थे कि अ-सरकारी चीजें असरकारी होती हैं।

उन्होंने कहा, ‘मेरा टोकनिज्म में विश्वास नहीं है। एक लंबी सोच के साथ एक के बाद एक इंटरलिंग व्यवस्थाएं विकसित करना ये मेरी कार्यशैली का हिस्सा है। सब चीजें पहले नहीं बताता हूं, धीरे-धीरे खोलता हूं। अगर हमारे देश और समाज में ऐसी युवा पीढ़ी तैयार होती है जो समाज के मुद्दों पर सही तरीके से सोचकर समाज को अपनी बात बताते हैं तो समाज का मन बनाने में बहुत बड़ी भूमिका अदा कर सकते हैं।’

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘महात्मा गांधी से बड़ा कम्युनिकेटर पिछली शताब्दी में नहीं हुआ। हमारे मुंह से निकला हुआ शब्द सही जगह पर तीर की तरह जाना चाहिए। हमारी वाणी इंप्रेसिव हो या न हो, लेकिन इंस्पायरिंग जरूर होनी चाहिए। हमारे देश और समाज में अगर ऐसी युवा पीढ़ी तैयार होती है जो समाज के मुद्दों पर सही तरीके से सोचकर समाज को अपनी बात बताते हैं तो बहुत बड़ी भूमिका अदा कर सकते हैं।’

उन्होंने कहा, ‘युवाओं के सपनों को रोकना नहीं चाहिए, उन्हें उन्मुक्त गगन में उड़ने देना चाहिए-
उसे गुमां है कि मेरी उड़ान कम है,
मुझे यकीन है कि ये आसमां कुछ कम है
आज का युवा मल्टी-टास्किंग के लिए पहले से तैयार है, इसलिए कई काम एक साथ करता है। वो एम्बिशन से भरा है, क्योंकि वो तेजी से आगे बढ़ना चाहता है, यही तो न्यू इंडिया का आधार है।’

युवा संसद में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हमारी सरकार युवाओं में आत्मविश्वास जगाने के पूरे प्रयास कर रही है। आपके राज्य से राज्यसभा में जो सांसद गए हैं। उन्हें किसी कार्यक्रम में बुलाइए, उनका स्वागत कीजिए। फिर रिक्वेस्ट कीजिए कि कुछ प्रश्न करने हैं और फिर पूछिए कि उन्होंने क्या किया। ऐसा करने से ही देश में दवाब पैदा है। यही लोकतंत्र है। स्पोर्ट्स, टेनिंग और सेलेक्शन में पारर्दिशता की बात हो या स्टार्टअप के माध्यम से युवाओं के आइडिया को देश की ताकत बनाने की बात हो, हम सही दिशा में आगे बढ़ रहे है। इनका फायदा उठाने और भविष्य में इन कार्यक्रम का नेतृत्व करने की जिम्मेदारी आप युवाओं की है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘द्वारिका प्रसाद द्विवेदी जी द्वारा रचित दो पंक्तियां मैं आपको बताना चाहता हूँ –
इतने ऊँचे उठो, कि, जितना उठा गगन है।
इतने मौलिक बनो, कि, जितना स्वयं सृजन है।’

प्रधानमंत्री मोदी ने राष्ट्रीय युवा संसद महोत्सव के विजेताओं को पुरस्कार भी प्रदान किए। राष्‍ट्रीय स्‍तर की स्‍पर्धा की विजेताओं में महाराष्‍ट्र की श्‍वेता उमरे (प्रथम स्‍थान), कर्नाटक की अंजनाक्षी एम.एस (द्वितीय स्थान) और बिहार की ममता कुमारी (तृतीय स्थान) शामिल हैं।

Leave a Reply