Home समाचार दिल्ली में नरेन्द्र और मुंबई में देवेंद्र : महाराष्ट्र के विकास के...

दिल्ली में नरेन्द्र और मुंबई में देवेंद्र : महाराष्ट्र के विकास के डबल इंजन को दे रहा है 11 गुणा शक्ति

220
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को महाराष्ट्र के अकोला, परतूर और पनवेल में तीन विशाल रैलियों को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि बीते 5 वर्ष में महायुति की सरकार ने दिखा दिया है कि महाराष्ट्र को कौन गठबंधन ईमानदारी के साथ आगे ले जा सकता है। उन्होंने कहा कि भाजपा और महायुति की सरकार ने जो भी योजनाएं बनाई हैं वो सर्वव्यापी, सर्वसमावेशी और सबका भला करने वाली हैं। गरीबों को आवाज मिली तो हर पंथ और हर समाज के गरीबों को मिली। गैस का कनेक्शन मिला तो हर पंथ और हर समाज की गरीब बहनों को मिला। मुफ्त बिजली का कनेक्शन हर पंथ और हर समाज के लोगों को मिला। शौचालय की सुविधा का लाभ हर पंथ और हर समाज के गरीबों को मिल रहा है। आयुष्मान भारत योजना का लाभ हर पंथ और हर समाज के गरीब उठा रहे हैं।

भारत को महान राष्ट्र बनाने में महाराष्ट्र का महायोगदान

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आज मराठवाड़ा में ग्रामीण सड़कों के साथ स्टेट और नेशनल हाइवे के लिए करीब 50,000 करोड़ रुपए के काम हो रहे हैं। संत गजानन महाराज के शेगांव से पंढरपुर को जोड़ने के लिए परतूर से नेशनल हाइवे बन रहा है। मराठवाड़ा में लोगों को लोड शेडिंग की परेशानी से राहत मिली है। पीएम मोदी ने कहा कि भारत को महान राष्ट्र बनाने में महाराष्ट्र का महायोगदान रहा है। नए भारत के निर्माण में भी नव महाराष्ट्र का योगदान अहम रहने वाला है। भारत को 5 ट्रिलियन की अर्थव्यवस्था बनाने में महाराष्ट्र नई गति देगा। भारत आज दुनिया का तीसरा बड़ा स्टार्ट-अप फ्रेंडली देश बन गया है। पिछले पांच वर्षों में काफी विदेशी निवेश हुए और इसका बड़ा हिस्सा महाराष्ट्र में आया है।

महाराष्ट्र में आए दिन होते थे बम धमाके 

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि एक समय था, जब महाराष्ट्र में आए दिन बम धमाके होते रहते थे और मुंबई भी दहलती रहती थी। उन्होंने कहा कि मुंबई बम धमाकों के मास्टरमाइंड दुश्मन देशों में जाकर बस गए। अब नए-नए पन्ने खुलने शुरू हुए हैं। ये सब खुलकर सामने आ रहा है किस-किसके उन लोगों से कैसे-कैसे संबंध थे। पीएम मोदी ने कहा कि जिन लोगों को पता था कि उनकी पोल खुलने वाली है, उन्होंने पिछले कुछ दिनों से जांच एजेंसियों के साथ केंद्र सरकार को बदनाम करना शुरू कर दिया था।

जल जीवन मिशन पर साढ़े तीन लाख करोड़ रुपये खर्च 

जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि सूखे की समस्या को मैंने बहुत नजदीक से देखा है। गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में भी और महाराष्ट्र में भारतीय जनता पार्टी के लिए काम करने के दौरान भी। यही कारण है कि अब भारत को सूखे के संकट से मुक्त करने और जलयुक्त बनाने का एक सपना हमने देखा है। आने वाले 5 वर्षों में जल जीवन मिशन पर साढ़े तीन लाख करोड़ रुपये खर्च करने की योजना है। इसके तहत पानी की बचत से लेकर घर-घर पानी पहुंचाने का संकल्प हमने लिया है। गांव-गांव में जो पानी के स्रोत हैं, उनको फिर से जीवित करने के लिए संकल्प लिया है और यह काम आपके सक्रिय सहयोग से पूरा होगा।

RERA कानून से लोगों को हुआ फायदा 

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आज RERA जैसा कानून लागू होने से ग्राहकों और घर बनाने वालों के बीच भरोसा मजबूत हुआ है। इसका बहुत बड़ा लाभ महाराष्ट्र को हुआ है। उन्होंने कहा कि मौजूदा सरकार की नीति स्पष्ट है कि माफिया को माफ नहीं, बल्कि माफियागीरी साफ कर दी जाएगी।

नामदारों की मनमानी से नहीं,कामदारों की इच्छाशक्ति 

पीएम मोदी ने कहा कि अब देश में नामदारों की मनमानी से नहीं, बल्कि कामदारों की इच्छाशक्ति से काम होगा। अब भारत में लटकाने-भटकाने वाली कार्य संस्कृति नहीं बल्कि तय समय पर काम करने वाली संस्कृति लोगों को मंजूर है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने यह स्वीकार कर लिया है कि आज की कांग्रेस आजादी के दीवानों वाली, देशभक्तों वाली कांग्रेस नहीं है। परिवारवाद के बोझ के नीचे कांग्रेस का राष्ट्रवाद दब गया है और परिवारवाद में ही कांग्रेस को राष्ट्रवाद नजर आता है।

अनुच्छेद 370 कांग्रेस और एनसीपी का रवैया राष्ट्र विरोधी 

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने पर भी कांग्रेस और एनसीपी का रवैया राष्ट्र के विपरीत है। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में बाबासाहेब के संविधान को पूरी तरह लागू न करने के प्रयासों के पीछे भी ऐसी ही पार्टियों के लोगों की दुर्भावना रही थी। श्री मोदी ने कहा कि जो लोग ये कह रहे हैं कि महाराष्ट्र के चुनाव में आर्टिकल 370 का क्या लेना-देना, वे कान खोलकर सुन लें कि जम्मू कश्मीर के लोग भी मां भारती की ही संतान हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि सीमा पार से फैलाए जा रहे आतंकवाद का मुकाबला करने के लिए पूरा देश जम्मू-कश्मीर के देशभक्त नागरिकों के साथ है। महाराष्ट्र का कोई जिला ऐसा नहीं होगा, जहां से गए वीर सपूतों ने जम्मू-कश्मीर की शांति के लिए त्याग नहीं किया होगा, अपना बलिदान नहीं दिया होगा। हमें गर्व है महाराष्ट्र के उन सपूतों पर, जिन्होंने जम्मू कश्मीर के लिए अपना सर्वोच्च न्योछावर कर दिया। 

दिल्ली में नरेन्द्र और मुंबई में देवेंद्र

प्रधानमंत्री मोदी ने लोगों से लोकसभा से भी बड़ा जनादेश देकर महाराष्ट्र में महायुति की सरकार दोबारा बनाने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि दिल्ली में आपने नरेन्द्र को दोबारा बिठा दिया, अब महाराष्ट्र में देवेंद्र को भी उसी ताकत से दोबारा बिठाएं। दिल्ली में नरेन्द्र और मुंबई में देवेंद्र, ये फॉर्मूला बीते पांच वर्षों में सुपरहिट रहा है। एक नरेन्द्र और एक देवेंद्र, ये वो सूत्र है, जो महाराष्ट्र के विकास के डबल इंजन को 11 गुना शक्ति दे रहा है। 21 अक्टूबर को वोट देते समय आपको इसी डबल शक्ति को ध्यान में रखना है।

Leave a Reply