Home नरेंद्र मोदी विशेष पीएम मोदी ने दिया विरोधियों के एक-एक आरोप का करारा जवाब

पीएम मोदी ने दिया विरोधियों के एक-एक आरोप का करारा जवाब

552
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कई दिनों से देश में विपक्ष द्वारा सुनियोजित तरीके से फैलाए जा रहे कुप्रचार का मुंहतोड़ जवाब दिया है। समाचार एजेंसी एएनआई को दिए इंटरव्यू में पीएम मोदी ने विपक्ष के हर एक आरोप का विस्तार से जवाब दिया और जीएसटी से लेकर सेना के पराक्रम तक विपक्ष के तमाम आरोपों की धज्जियां उड़ा दी। ये इंटरव्यू सोशल मीडिया पर इतना ट्रेंड हुआ कि एक बार तो एएनआई की साइट ही बैठ गई।

जीएसटी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि जीएसटी लागू करने का फैसला उनकी सरकार ने एकाएक नहीं लिया। उन्होंने कह यह सिर्फ बीजेपी की देन नहीं है, यह विचार काफी वक्त से चल रहा था। उन्होंने कहा कि संसद में जीएसटी पर सबकी सहमति है और इसमें कांग्रेस भी शामिल रही है। जीएसटी काउंसिल में कांग्रेस की सरकार हैं। ऐसे में इसकी बुराई करना सही नहीं है।

जीएसटी को राहुल गांधी गब्बर सिंह टैक्स बताते रहे हैं, इस पर पूछे गए सवाल पर पीएम मोदी ने कहा कि जिसकी जैसी सोच है, वैसी ही उसकी भाषा होती है।

नोटबंदी

नोटबंदी पर पीएम मोदी ने कहा कि देश में एक समानांतर अर्थव्यवस्था चल रही थी। बोरे भरे हुए नोटों से देश की अर्थव्यवस्था बिगड़ गई थी, लेकिन अब यह पैसा बैंकिंग व्यवस्था में आ गया है और ईमानदारी का माहौल बना है। पीएम मोदी ने स्पष्ट कहा कि नोटबंदी लाना झटका नहीं था, हमने एक साल पहले लोगों को कहा था कि ऐसा कीजिए। लेकिन लोगों ने पहली सरकारों की तरह मोदी सरकार को भी लिया और कम लोगों ने आकर अपना धम जमा कराया। पीएम मोदी ने बताया कि नोटबंदी का फैसला रातों-रात नहीं किया गया है, इसके लिए एक साल लगा।

राम मंदिर अध्यादेश 

तीन तलाक पर मोदी सरकार अध्यादेश लाई, लेकिन राम मंदिर पर ऐसा नहीं किया गया, इस सवाल पर पीएम मोदी ने कहा कि तीन तलाक बिल सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद लाया गया है। हमने अपने मेनिफेस्टो में भी कहा है कि हम राम मंदिर का निर्माण संविधान की मर्यादा में किया जाएगा। उन्होंने कहा कि मैं कांग्रेस के वकीलों से अपील करता हूं कि देश की शांति, सुरक्षा और भाईचारे के लिए काम करें और न्याय की प्रक्रिया में अड़ंगे न लगाएं। गौरतलब है कि कांग्रेस पार्टी से जुड़े वकील अक्सर इस मामले की सुनवाई टालने की मांग करते हैं।

सबरीमाला और तीन तलाक

बीजेपी सबरीमाला मंदिर में महिलाओं की एंट्री का विरोध क्यों करती है, इस पर मोदी ने कहा कि दुनिया के किसी भी इस्लामिक देश में तीन तलाक की परमिशन नहीं है। इसलिए यह धार्मिक आस्था नहीं, बल्कि सामाजिक न्याय का मसला है। सबरीमाला मंदिर पर उन्होंने कहा कि देश के कुछ मंदिर ऐसे भी हैं कि जहां पुरुष नहीं जाते हैं। 

किसान कर्ज माफी 

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि कांग्रेस सरकारें किसानों की कर्जमाफी पर बरगला रही हैं। कहा जाता है कि सब किसानों के कर्ज माफ होगा, लेकिन ऐसा नहीं होता है। पीएम मोदी ने स्पष्ट कहा कि अगर कर्जमाफी से किसानों का भला होता है तो यह करना चाहिए। लेकिन ऐसा होता नहीं है, क्योंकि पहले भी कर्जमाफ होते रहे हैं। लेकिन बार-बार कर्जमाफ करने के बावजूद किसान कर्जदार क्यों हो जाता है।पीएम मोदी ने इसका उपाय बताते हुए कहा कि किसानों के कर्जमाफ करने के बजाय उन्हें मजबूत किया जाए और यह काम हमारी सरकार ने किया है। हमारी सरकार ने सिंचाई की व्यवस्था की है। हम ऐसी स्थिति बना रहे हैं कि किसान पर कर्ज रह न सके। ज्यादातर किसान साहूकार से कर्ज लेता है और जो कर्ज सरकार माफ कर रही हैं, उसमें असल किसान नहीं आ पाता है।

सर्जिकल स्ट्राइक

पीएम मोदी ने कहा कि जब उरी में आतंकवादी घटना हुई तो उससे मुझे आक्रोश आया। मैंने सेना से इस पर चर्चा की। मुझसे ज्यादा सेना के अंदर आग लगी थी। मैंने सेना से कहा कि आप जितना कर सकते हैं वो कीजिए। उन्होंने प्लान बनाया और दो बार हमें इस ऑपरेशन की तारीख बदलनी पड़ी क्योंकि मैं पूरी सुरक्षा चाहता था। मैं जानता था कि यह बड़ा रिस्क था कि कहीं जवानों का कोई नुकसान न हो जाए।

पाकिस्तान से बातचीत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि यूपीए हो या एनडीए पाकिस्तान से बातचीत का विरोध नहीं होना चाहिए और न ही भारत ने विरोध किया। यह देश की सतत् चलने वाली नीति है, मोदी या मनमोहन सरकार की नहीं है। हम हमेशा चर्चा के लिए तैयार हैं। हम सिर्फ इतना कहते हैं कि बम और बंदूक के शोर के बीच बातचीत सुनाई नहीं देती, इसलिए क्रॉस टेररिज्म बंद होना चाहिए>

राफेल डील

राफेल डील में पीएम मोदी ने कहा कि यह मेरे ऊपर व्यक्तिगत आरोप नहीं है, यह सरकार पर आरोप हैं। उन्होंने कहा कि जहां भी मुझे जनता के बीच बोलने का मौका मिला है, मैंने इसके बारे में बताया है। पीएम मोदी ने आगे कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में सब स्पष्ट कर दिया है, फ्रांस के राष्ट्रपति ने भी बता दिया है। अब उनसे (राहुल गांधी) सवाल होने चाहिएं। पीएम ने कहा कि उन्हें बोलने की बीमारी है तो मैं बार-बार जवाब दूं क्या।

भ्रष्टाचार का महागठबंधन 

गैर-बीजेपी दलों के तथाकठित महागठबंधन पर पीएम मोदी ने कहा कि उनका कोई विजन नहीं है, गठबंधन के सदस्य सिर्फ मोदी की आलोचना करते रहते हैं। पीएम मोदी ने कहा कि आगामी चुनाव इस मुद्दे पर होने वाला है कि जनता के साथ कौन है। अब जनता को तय करना है कि देश को लूटने वाले एक साथ आ रहे हैं, उनका क्या करना है।

देश में हर जगह भाजपा

दक्षिण की राजनीति में बीजेपी की शून्यता पर पीएम मोदी ने कहा कि यह धारणा दशकों पुरानी है। दक्षिण के राज्यों में हमारी सरकार है। साथ ही ये भी कहा जाता है कि बीजेपी उच्च वर्णों की पार्टी है, जबकि आप प्रधानमंत्री से लेकर दूसरे तमाम नेताओं को देख लें, उनका क्या वर्ण हैं। पीएम ने कहा कि बीजेपी में सबसे ज्यादा दलित-आदिवासी और किसान सांसद हैं। कहा जाता है कि बीजेपी शहरी पार्टी है, लेकिन ऐसा नहीं है। बीजेपी हर समाज की पार्टी है। पीएम ने कहा कि बीजेपी के सांसद चारों तरफ हैं।

एनडीए एकजुट और मजबूत

एनडीए के सहयोगियों में नाराजगी पर भी पीएम मोदी ने सफाई दी है। उन्होंने शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के बागी तेवरों पर कहा कि बीजेपी ने पूर्ण बहुमत मिलने के बावजूद गठबंधन धर्म का पालन किया है। लेकिन उन्होंने कहा कि राज्य की राजनीति का अपना मसला होता है और सहयोगी दल भी अपनी प्रगति चाहते हैं।

गोरक्षा और मॉब लिंचिंग

पीएम नरेंद्र मोदी ने मॉब लिंचिंग जैसी घटनाओं के पक्ष में उठने वाली आवाज को गलत बताया। लेकिन उन्होंने सवाल भी उठाए कि क्या ऐसा सिर्फ 2014 के बाद हुआ है। उन्होंने इसे एक समस्या बताते हुए मिलकर इसके समाधान की बात कही। साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि हम सबको दूसरे की भावनाओं का आदर करना चाहिए।

मिडिल क्लास

मिडिल क्लास पर बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा कि इनकी चिंता करना हम अपना दायित्व समझते हैं। महंगाई की तुलना अगर 2014 से करें तो आपको समझ आएगा कितना फर्क आया है और इसका सीधा फायदा मध्यम वर्ग को हुआ है। मोदी सरकार मिडिल क्लास को वोट बैंक नहीं समझती, लेकिन मोदी सरकार की तमाम जन हितकारी योजनाओं और विकास कार्यक्रमों से मिडिल क्लास को सबसे ज्यादा फायदा हुआ है।

जमानत पर गांधी परिवार

पीएम मोदी से जब सवाल किया कि 2014 के चुनाव से पहले सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा को लेकर जमकर भाषण दिए गए, लेकिन अब तक कोई जेल नहीं गया। इस पर पीएम मोदी ने कहा कि इस देश की फर्स्ट फैमिली अगर आज जमानत पर बाहर है, तो ये बहुत बड़ी बात है और बाकी जो पार्क में सैर कर रहे हैं, वो भी कानून प्रक्रिया का सामना करेंगे। पी। चिदंबरम पर उन्होंने कहा कि इस देश के पूर्व वित्त मंत्री को आज अदालत के चक्कर काटने पड़ रहे हैं।

आर्थिक भगोड़े

विजय माल्या और नीरव मोदी जैसे बड़े कारोबारी देश का पैसा लेकर फरार कैसे हो गए, इस सवाल पर पीएम मोदी ने कहा कि क्योंकि सरकार ऐसे लोगों के प्रति सख्त थी, इसलिए ये लोग भाग गए। लेकिन अगर पहली सरकार होती है, वह यहीं रहकर लूटते रहते। पीएम मोदी ने आश्वस्त किया कि हिंदुस्तान का चुराया हुआ पैसा लाने के लिए सरकार पूरी तरह प्रतिबद्ध है। बता दें कि विजय माल्या 9 हजार करोड़ व नीरव मोदी करीब 13 हजार करोड़ का कर्ज लेकर फरार हो गए हैं।

आरबीआई विवाद 

पीएम मोदी ने आरबीआई गवर्नर उर्जित पटेल के इस्तीफे पर कहा कि उन्होंने खुद इस्तीफा दिया था, उन पर कोई राजनीति दबाव नहीं था। बता दें कि उर्जित पटेल के इस्तीफे पर कांग्रेस समेत दूसरे विपक्षी दलों ने आरोप लगाए थे कि आरबीआई और मोदी सरकार के बीच तालमेल सही नहीं है और इसी के चलते उर्जित पटेल ने गवर्नर पद से इस्तीफा दिया है। इन आरोपों पर पीएम मोदी ने बताया कि उर्जित पटेल ने 6-7 महीने पहले ही मुझे इस्तीफा देने के लिए कहा था।

Leave a Reply