Home नरेंद्र मोदी विशेष स्वतंत्रता के वीर सपूतों के सपनों को पूरा करना नई पीढ़ी की...

स्वतंत्रता के वीर सपूतों के सपनों को पूरा करना नई पीढ़ी की जिम्मेदारी- पीएम मोदी

1497
SHARE

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि स्वतंत्रता के वीर सपूतों के सपनों को पूरा करना नई पीढ़ी की जिम्मेदारी है। पीएम मोदी साधु वासवाणी मिशन के दादा जे पी वासवानी के 99वें जन्मदिवस पर वीडियो कांफ्रेंस से लोगों को संबोधित कर रहे थे। संस्था के लोग इस वर्ष को दादा वासवानी के जन्म शताब्दी वर्ष के रूप में मना रहे हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि, ये संयोग ही है कि इसी साल चंपारण सत्याग्रह के भी 100 वर्ष पूरे हुए हैं। महात्मा गांधी ने उस सत्याग्रह से जन भागीदारी को जोड़कर समाज को मजबूत करने का काम किया था। इस अवसर पर उन्होंने स्वच्छता के लिये गांधी जी के आग्रह पर भी खूब जोर दिया। इस मौके पर पीएम ने स्वच्छ भारत अभियान का जिक्र करते हुए उम्मीद जताई कि दादा वासवानी का आशीर्वाद देश में चल रहे स्वच्छाग्रह को और शक्ति देगा और महात्मा के अधूरे सपने को पूरा करने में सहायक होगा।

पीएम ने कहा कि स्वच्छ भारत अभियान देश के अनेकों जन आंदोलन की तरह ही आज आगे बढ़ रहा है। 2 अक्टूबर, 2014 को जब ये अभियान शुरू हुआ था तो देश में ग्रामीण स्वच्छता का दायरा 40% से भी कम था। आज ये बढ़कर करीब 70% तक पहुंच गया है। खुले में शौच से मुक्ति की एक तंदरुस्त प्रथा चल पड़ी है। 2.17 लाख गांव खुले में शौच से मुक्त घोषित हो चुके हैं। पीएम के अनुसार ये महिला सशक्तिकरण का सबसे बड़ा काम है। देश के पांच राज्य हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, उत्तराखंड, सिक्किम और केरल खुले में शौच से मुक्त हो चुके हैं। पीएम ने कहा कि स्वच्छता हमारे स्वभाव में होना चाहिए। अगर स्वच्छता को हम अपनी प्रवृत्ति बना लें तो ये समाज की प्रकृति बन जाएगी।

इस अवसर पर पीएम ने कहा कि स्वतंत्रता के वीर सपूतों के सपने अब भी अधूरे हैं, जिसे पूरा करना इस पीढ़ी की जिम्मेदारी है। उन्होंने आह्वान किया कि 2022 तक न्यू इंडिया के सपने को पूरा करने का अभी से संकल्प लें। पीएम ने इस बात पर जोर दिया कि दादा वासवानी का आशीर्वाद इस संकल्प की सिद्धि में सहायक हो सकता है। पीएम मोदी ने लोगों का आह्वान किया कि इसके लिये जरूरी है कि समाज का हर व्यक्ति कोई न कोई संकल्प निर्धारित करे और उसके मुताबिक काम करे। इस अवसर पर उन्होंने पर्यावरण संरक्षण के प्रति भी लोगों को लगातार जागरूक किये जाने की आवश्यकता पर बल दिया

पीएम ने कहा कि अगर व्यक्ति अपने जीवन में ईश्वर को साक्ष्य मानकर सही विकल्पों का चुनाव करता रहे तो लोगों की प्रवृत्ति में सुधार आ सकता है। उन्होंने कहा कि सही विकल्पों के चुनाव से भ्रष्टाचार, जातिवाद,अपराध, ड्रग्स की लत जैसी बुराइयों से भी निपटा जा सकता है।

Leave a Reply