Home समाचार पीएम मोदी की सोच को सलाम : स्टैच्यू ऑफ लिबर्टी से ज्यादा...

पीएम मोदी की सोच को सलाम : स्टैच्यू ऑफ लिबर्टी से ज्यादा हुई स्टैच्यू ऑफ यूनिटी के प्रतिदिन पर्यटकों की संख्या

213
SHARE

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ब्रेन चाइल्ड स्टैच्यू ऑफ यूनिटी की लोकप्रियता दिनों दिनों बढ़ती ही जा रही है। स्टेच्यू ऑफ यूनिटी को रोजाना देखने आने वाले पर्यटकों की संख्या अमेरिका के 133 साल पुराने स्टेच्यू ऑफ लिबर्टी के पर्यटकों से ज्यादा हो गई है। प्रधानमंत्री मोदी ने दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा स्टैच्यू ऑफ यूनिटी का उद्घाटन 31 अक्टूबर, 2018 को किया था। आज स्टैच्यू ऑफ यूनिटी की दुनिया और देश का आज प्रमुख पर्यटन स्थलों में गिनती हो रही है।

मीडिया में छपी रिपोर्ट के मुताबिक गुजरात स्थित इस स्मारक को देखने औसतन 15,000 से अधिक पर्यटक रोज पहुंच रहे हैं। पहली नवंबर, 2018 से 31 अक्टूबर, 2019 तक पहले साल में रोजाना आने वाले पर्यटकों की संख्या में औसतन 74 फीसदी वृद्धि हुई है और अब दूसरे साल के पहले महीने में पर्यटकों की संख्या औसतन 15,036 पर्यटक प्रतिदिन हो गई है।सप्ताहांत के दिनों में यह 22,430 हो गई है।

उधर,अमेरिका के न्यूयार्क में स्टैच्यू ऑफ लिबर्टी को देखने रोजाना 10,000 पर्यटक पहुंचते हैं। स्टैच्यू ऑफ यूनिटी देश के पहले गृहमंत्री सरदार वल्लभभाई पटेल की 182 मीटर ऊंची प्रतिमा है। यह दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा है। यह प्रतिमा गुजरात में केवड़िया कॉलोनी में नर्मदा नदी पर सरदार सरोवर बांध के समीप है। भारतीय मूर्तिकार राम वी सुतार ने इसका डिजायन तैयार किया था।

कमाई में ताजमहल को पीछे छोड़ा

सरदार सरोवर नर्मदा निगम लिमिटेड ने इस स्मारक के पर्यटकों की संख्या में वृद्धि का श्रेय जंगल सफारी, बच्चों के न्यूट्रीशन पार्क, कैक्टस गार्डन, बटरफ्लाई गार्डन, एकता नर्सरी, नदी राफ्टिंग, बोटिंग आदि जैसे नये पर्यटक आकर्षणों को दिया है। इस साल 30 नवंबर तक केवडिया में 30,90,723 पर्यटक पहुंचे और 85.57 करोड़ रुपए का राजस्व मिला।

3000 करोड़ रुपए की लागत से तैयार हुई प्रतिमा

स्टैच्यू ऑफ यूनिटी गुजरात के नर्मदा जिले के केवडिया में सरदार सरोवर बाँध से लगभग 3.5 किलोमीटर दक्षिण में नर्मदा नदी पर स्थित है। गुजरात के केवडिया में 3000 करोड़ रुपए की लागत से तैयार हुई यह प्रतिमा पर्यटकों की संख्या के मामले में अमेरिका की स्टैच्यू ऑफ लिबर्टी को पीछे छोड़ दिया है। अमेरिका के 133 साल पुरानी स्टैच्यू ऑफ लिबर्टी को देखने प्रति वर्ष करीब 23 लाख दर्शक पहुंचते हैं।

विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा

स्टैच्यू ऑफ यूनिटी प्रतिमा की ऊंचाई स्प्रिंग टेंपल बुद्धा (चीन), उशीकू दाइबत्सू (जापान), स्टैचू ऑफ़ लिबर्टी (अमेरिका) और क्राइस्ट द रिडीमर (ब्राजील) से भी ज्यादा ऊंची है। Spring Temple of Buddha की 153 ​​मीटर, Ushiku Daibutsu की 120 मीटर, Statue of Liberty की 93 मीटर और ब्राजील की Christ the Redeeme की ऊंचाई 38 मीटर है।

Leave a Reply