Home पोल खोल राहुल की अगुवाई में चुनाव लड़ने से घबरा रहे कांग्रेसी, सहयोगियों का...

राहुल की अगुवाई में चुनाव लड़ने से घबरा रहे कांग्रेसी, सहयोगियों का भी मन डोला

911
SHARE

लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को चुनौती देने की कोशिश कर रही कांग्रेस को एक के बाद एक झटके लग रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस नेता राहुल गांधी की अगुवाई में चुनाव लड़ने से घबरा रहे हैं। ओडिशा में कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष नबा कुमार दास ने तो इस्तीफा देकर बीजू जनता दल में शामिल होने का ऐलान कर दिया है। उधर कई राज्यों में कांग्रेस को गठबंधन सहयोगी तक नहीं मिल रहे। तेलंगाना विधानसभा चुनाव में कांग्रेस से गठबंधन करने वाले चंद्रबाबू नायडू ने संकेत दिये हैं कि टीडीपी आंध्र में कांग्रेस से गठबंधन नहीं करेगी।

कांग्रेस की मुश्किलों का पहाड़ 

कर्नाटक

कर्नाटक में कांग्रेस की मेहरबानी से मुख्यमंत्री बनने वाले कुमारास्वामी ने डिमांड बढ़ा दी है। वो जेडीएस के लिए कांग्रेस से लोकसभा की ज्यादा सीट छोड़ने का दबाव बना रहे हैं। इसके साथ ही कांग्रेस विधायक भी इस गठबंधन और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व से नाराज चल रहे हैं। 

ओडिशा

Image result for naba kumar das CONGRESS

ओडिशा में कांग्रेस मुश्किलों में फंस गई है। ओडिशा कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष और झारसागुड़ा से विधायक नबा कुमार दास ने राहुल गांधी को पत्र लिखकर पार्टी से इस्तीफा दे दिया है और वो बीजू जनता दल में शामिल होने जा रहे हैं। खबरों के मुताबिक कई और कांग्रेस नेता भी इस्तीफा देने का मौका ढूंढ रहे हैं। 

झारखंड

Image result for jharkhand mahagathbandhan

झारखंड में झारखंड मुक्ति मोर्चा की अगुवाई में कांग्रेस, आरजेडी और झारखंड विकास पार्टी जैसे दलों का महागठबंधन बनाने की कवायद ठंडी पड़ गई है। झारखंड में कोई भी पार्टी कांग्रेस को बड़ा भाई मानने को तैयार नहीं है। 

आंध्र प्रदेश

तेलंगाना में गठबंधन करने के बाद कांग्रेस को उम्मीद थी कि टीडीपी उसे आंध्र प्रदेश में सम्मानजनक सीटें देंगी। लेकिन तेलंगाना में कांग्रेस के साथ गठबंधन करने का जो हश्र हुआ, उसके बाद टीडीपी, कांग्रेस से पल्ला झाड़ने की कोशिश में है। आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू ने संकेत दिया है कि आंध्र मे टीडीपी अकेले चुनाव लड़ेगी। 

प. बंगाल

Image result for MAMTA RAHUL

कांग्रेस ने पिछला विधानसभा चुनाव वामपंथी पार्टियों के साथ गठबंधन करके लड़ा था लेकिन कांग्रेस भी डूब गई और लेफ्ट भी। इसके बाद कांग्रेस ने ममता बनर्जी की टीएमसी के साथ गठबंधन की कोशिशें की लेकिन ममता खुद प्रधानमंत्री पद की उम्मीदवार बनना चाहती है। अब स्थिति ये कि कांग्रेस को ना टीएमसी घास डालने को तैयार और ना सीपीएम।

उत्तर प्रदेश

सबसे ज्यादा लोकसभा सीटों वाले राज्य में कांग्रेस के साथ कोई पार्टी जुड़ने को तैयार नहीं है। समाजवादी पार्टी और बीएसपी ने गठबंधन का ऐलान कर दिया है। इस गठबंधन में अजित सिंह के राष्ट्रीय लोकदल के लिए भी सीट एडजस्ट करने के लिए मीटिंग हो रही है। ऐसे में कांग्रेस को मजबूरन सभी 80 सीटों पर अकेले चुनाव लड़ने की घोषणा करनी पड़ी।

दिल्ली-पंजाब

दिल्ली में जोरशोर से आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के गठबंधन की चर्चा शुरू हुई लेकिन आम आदमी पार्टी के कई नेताओं ने कांग्रेस से संभावित गठबंधन को आत्मघाती बताया, जिसके बाद ये चर्चाएं थम गई। 

जम्मू-कश्मीर

जम्मू कश्मीर में कांग्रेस की जमीन भारतीय जनता पार्टी ने छीन ली है। कांग्रेस की कमजोर हैसियत देखते हुए महबूबा मुफ्ती की पीडीपी और फारुक अब्दुल्ला की नेशनल कॉन्फ्रेंस अकेले ही विधानसभा चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे हैं। 

गुजरात

नरेन्द्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने तीन दशक में सबसे अच्छा प्रदर्शन किया था। इसमें हार्दिक पटेल, अल्पेश ठाकोर और जिग्नेश मेवानी जैसे युवाओं की बड़ी भूमिका थी। लेकिन कई दिनों से ये खबरें आ रही है कि ओबीसी नेता अल्पेश ठाकोर कांग्रेस से नाराज है और वो जल्दी ही बीजेपी में शामिल हो सकते हैं। 

पूर्व सांसद प्रिया दत्त ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को मेल भेजकर मुंबई से चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया है। ये भी कहा जा रहा है कि यूपी के कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर किसी सुरक्षित सीट की तलाश में मुंबई का रुख कर सकते हैं।

Leave a Reply