Home विपक्ष विशेष चुनावी मौसम में फेक न्यूज के जरिए प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ केजरीवाल...

चुनावी मौसम में फेक न्यूज के जरिए प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ केजरीवाल एंड टीम की साजिश से सावधान!

332
SHARE

आने वाले चुनावों से केंद्र की सत्ता में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का लगातार दूसरा कार्यकाल तय देखकर उनके विरोधियों की तिलमिलाहट लगातार बढ़ती जा रही है। उनका संतुलन कुछ ऐसा जवाब देने लगा है कि वो प्रधानमंत्री को बदनाम करने के लिए किसी भी हद तक गिर रहे हैं। यहां तक कि देश की सेना के नाम पर भी फेक न्यूज न्यूज फैलाने में लगे हैं। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खासमखास सोमनाथ भारती ने एक ट्वीट के जरिए ऐसी फेक न्यूज दी है जो आम आदमी पार्टी की सुनियोजित साजिश को बयां करती है।    

देश की सेना पर फेक न्यूज
मंगलवार, 15 जनवरी को सोमनाथ भारती ने अपने एक ट्वीट में लिखा कि मोदी जी ने सेना के 52 भत्ते बंद करने के साथ ही दिए जा चुके भत्तों को वापस लेने के निर्देश जारी किए हैं। भारती ने एक आर्मी आफिसर का हवाला देकर ये ट्वीट किया। भारती ने इस ट्वीट को जिस प्रकार से सच के रूप में ढालकर पेश करने की कोशिश की, उससे आम आदमी पार्टी के गंदे मंसूबे का इजहार हुआ है। वह मंसूबा है चुनाव अभियान के दौरान प्रधानमंत्री मोदी को बदनाम करने की निरंतर कोशिश में लगे रहना।

झूठी और दुर्भावना से भरी जानकारी
सोमनाथ भारती के इस ट्वीट पर रक्षा मंत्रालय ने जो जवाब दिया, उससे इस बात पर मुहर लग जाती है कि ऐसी जानकारी के पीछे इरादा फेक न्यूज फैलाने का है। रक्षा मंत्रालय ने इसे ‘झूठी और दुर्भावनापूर्ण’ जानकारी बताया है। इसको लेकर समाचार एजेंसी एएनआई का ट्वीट भी आया है। 

राजनीतिक मकसद से फेक न्यूज
यानि इसमें कोई शक नहीं कि केजरीवाल एंड टीम फेक न्यूज फैलाकर जनता को बरगलाने के प्रयासों में जुटी हुई है। इस तरह की फेक न्यूज में कोशिश यही रहती है कि जब तक ये फेक साबित हो जाए, तब तक इसके पीछे का राजनीतिक मकसद पूरा हो जाए। लेकिन देशहित में प्रधानमंत्री मोदी के समर्पण भाव को महसूस करने वाली जनता केजरीवाल और उनके गुर्गों के झांसे में नहीं आने वाली। जान-बूझकर किए गए भरमाने वाले ट्वीट को लेकर सोमनाथ भारती और आम आदमी पार्टी पर लोगों का गुस्सा फूट पड़ा। 

फेक न्यूज की फंडिंग कहां से
वैसे फेक न्यूज फैलाने चले सोमनाथ भारती का अपना सच ही जनता को सावधान करने वाला है। पूरे देश को पता है कि वे महिलाओं से बदतमीजी के लिए कुख्यात रहे हैं। इसके लिए खुद उनकी पत्नी ने भी उन्हें कोर्ट में घसीटा था। दिल्ली सरकार में मंत्री रहते हुए भारती ने दक्षिण अफ्रीका की कुछ महिलाओं के साथ बदतमीजी की थी, तो कुछ महीने पहले एक सवाल नागवार गुजरने पर उन्होंने एक न्यूज चैनल की एंकर से आपत्तिजनक रूप से यह पूछ दिया था कि इसके लिए उसे कितने पैसे मिले हैं। अब सवाल है, ट्वीट में जिस तरह की बात लेकर सोमनाथ भारती और आम आदमी पार्टी आ रही है, उसकी फंडिंग कहां से हो रही है?

LEAVE A REPLY