Home समाचार EXIT POLL- मोदी की आंधी में बह गए ममता, माया और राहुल...

EXIT POLL- मोदी की आंधी में बह गए ममता, माया और राहुल गांधी

647
SHARE

लोकसभा चुनाव के एग्जिट पोल्स से यह तय हो गया है कि नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में एक बार फिर एनडीए की सरकार बनेगी। यह भी तय हो गया है कि बीजेपी अपने दम पर बहुमत हासिल करेगी और एनडीए 2014 से भी ज्यादा सीटें जीतकर सत्ता में वापसी करेगा। हालांकि, बीजेपी की जीत के बारे में पहले भी कोई संदेह नहीं था, लेकिन विपक्षी पार्टियों की ऐसी हालत की उम्मीद शायद किसी ने नहीं की थी। खास बात यह है कि कांग्रेस पार्टी जिन राज्यों में खुद को ज्यादा मजबूत बता रही थी, वहां भी उसे सीटें मिलती नहीं दिख रहीं। मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस ने करीब छह महीने पहले ही सरकार बनाई थी, लेकिन इन तीनों राज्यों की 65 लोकसभा सीटों में से उसे 10 सीटें भी नहीं मिल रहीं। इसी तरह, यूपी में सपा-बसपा-रालोद के महागठबंधन ने बीजेपी के सफाये का दावा किया था, लेकिन यहां भी सफाया कांग्रेस का ही होता दिख रहा है। बीजेपी 2014 की तरह यहां 80 में से 71 सीटें शायद न जीत सके, लेकिन वह महागठबंधन से आगे रहेगी।

उत्तरी भारत में बीजेपी को प्रचंड समर्थन
बीजेपी को पूरे उत्तर और पश्चिम भारत में मतदाताओं का जबरदस्त समर्थन मिलता दिख रहा है। इन क्षेत्रों के अधिकतर राज्यों में विपक्षी पार्टियों का सूपड़ा साफ होने की संभावना है।

झारखंड- सर्वे के मुताबिक बीजेपी यहां 12-14 सीटें जीत सकती है जबकि कांग्रेस के खाते में 0-2 सीटें आ सकती हैं। यहां कुल 14 सीटें हैं। बीजेपी यहां सभी सीटें अपने कब्जे में करती दिख रही है जबकि कांग्रेस का सूपड़ा साफ होता दिख रहा है। 

यूपी-  यहां कुल 80 सीटें हैं जिनमें 62-68 सीटें बीजेपी को, एसपी-बीएसपी को 10-16 और यूपीए को 1-2 सीटें मिल सकती हैं। यूपी में महागठबंधन के नाकाम रहने के संकेत हैं। एक्सिस माई इंडिया का सर्वे बताता है कि यहां अखिलेश यादव और मायावती का गठजोड़ काम नहीं कर पाया। कांग्रेस को यहां बहुत बड़ा झटका लगता दिख रहा है। यूपी में बीजेपी को 48 फीसदी, कांग्रेस को 8 फीसदी और महागठबंधन को 39 फीसदी वोट मिलता दिख रहा है। 

यह भी पढ़ेंः Exit Poll: एक बार फिर मोदी सरकार, एनडीए को पूर्ण बहुमत

बिहार- 40 लोकसभा सीटों वाले बिहार में NDA 38 सीटों पर जीत हासिल कर सकता है। यहां आरजेडी-कांग्रेस के साथ कुछ और पार्टियों का गठबंधन बीजेपी-जदयू के आगे पूरी तरह पस्त होता दिख रहा है।

मध्य प्रदेश- मध्य प्रदेश में कांग्रेस ने बीते साल के आखिर में ही विधानसभा चुनाव के बाद बीजेपी से सत्ता छीनी है, लेकिन यहां की कुल 29 लोकसभा सीटों में से बीजेपी को 26 से 28 पर विजय मिल सकती है। पोल के मुताबिक राहुल गांधी की पार्टी को इस राज्य में सिर्फ एक से तीन सीट पर ही संतोष करना पड़ सकता है। 2014 लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने मध्य प्रदेश से 27 और कांग्रेस ने 2 सीट पर जीत हासिल की थी।

राजस्थान- राजस्थान भी ऐसा राज्य है जहां 2018 में हुए विधानसभा चुनाव में बीजेपी को कांग्रेस के हाथों सत्ता गंवानी पड़ी थी, लेकिन एग्जिट पोल दिखा रहा है कि लोकसभा चुनाव में बीजेपी को लोगों से भरपूर समर्थन मिलने का अनुमान है। पोल के मुताबिक राज्य की 25 लोकसभा सीटों में से बीजेपी 23 पर जीत हासिल कर सकती है।

महाराष्ट्र- एनडीए शासित महाराष्ट्र में पोल के मुताबिक बीजेपी और शिवसेना को कुल 48 लोकसभा सीटों में 38 से 42 सीट पर जीत मिल सकती है। पोल के मुताबिक यहां कांग्रेस और उसके सहयोगी दलों को केवल 6 से 10 सीट पर विजय हासिल हो सकती है।

पश्चिम बंगाल- 42 लोकसभा सीटों वाले पश्चिम बंगाल में पोल के मुताबिक बीजेपी के शानदार प्रदर्शन का अनुमान है। यहां बीजेपी को 19 से 23 सीट मिलने का अनुमान है। वहीं सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस और अन्य 19 से 22 सीट पर जीत हासिल कर सकते हैं। पोल के डेटा बताते हैं कि पश्चिम बंगाल में दस सीटों पर कांटे का मुकाबला है। 2014 में बीजेपी ने राज्य से महज दो सीटों पर जीत हासिल की थी। वहीं तृणमूल कांग्रेस को 34 और कांग्रेस को 4 सीट पर जीत मिली थी।

ओडिशा- एक्सिस-माई-इंडिया की पोल स्टडी के मुताबिक ओडिशा में भी कमल का कमाल दिखने का अनुमान है। राज्य की 21 लोकसभा सीटों में से बीजेपी को 15 से 19 सीट पर विजय मिल सकती है। 2014 लोकसभा चुनाव में सत्तारूढ़ बीजू जनता दल ने राज्य से 20 लोकसभा सीटों पर जीत हासिल की थी। पोल के मुताबिक ओडिशा का इस चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पार्टी की ओर भारी झुकाव नजर आता है। मुख्यमंत्री नवीन पटनायक की पार्टी को 2 से 6 सीट पर ही संतोष करना पड़ सकता है। राज्य की 4 सीटों पर कांटे के मुकाबले का अनुमान है।

कर्नाटक- दक्षिण में कर्नाटक ही इकलौता राज्य है जहां पोल के मुताबिक बीजेपी के अच्छे प्रदर्शन का अनुमान है। जेडीएस-कांग्रेस गठबंधन की सरकार वाले इस राज्य में कुल 28 लोकसभा सीटों में 21 से 25 सीट पर बीजेपी को जीत हासिल हो सकती है।

असम- पूर्वोत्तर के राज्य असम में बीजेपी 14 लोकसभा सीटों में से कम से कम 12 पर जीत का परचम लहरा सकती है। राज्य की तीन सीटों पर कांटे की लड़ाई है। कांग्रेस के खाते में 0-2 सीटें जा सकती हैं। एआईयूडीएफ का खाता भी खुलता नहीं दिखता।

अरुणाचल, मणिपुर, त्रिपुरा- इंडिया टुडे-एक्सिस-माई-इंडिया पोल के मुताबिक अरुणाचल प्रदेश, मणिपुर और त्रिपुरा की सभी लोकसभा सीटों पर बीजेपी की जीत का अनुमान है।

यूपीए को पंजाब, केरल और तमिलनाडु से उम्मीद
एग्जिट पोल के अनुसार कुछ राज्यों में यूपीए बेहतर प्रदर्शन कर रही है। इनमें पंजाब, तमिलनाडु और केरल जैसे राज्य शामिल हैं। ये वो राज्य हैं जिनके नतीजे यूपीए के लिए राहत वाले कहे जा सकते हैं। इसके अलावा मिजोरम की एक सीट कांग्रेस के पाले में जा सकती है। नगालैंड में भी कांग्रेस एक सीट जीत सकती है। पुडुचेरी की अकेली सीट कांग्रेस जीत सकती है। सिक्किम की एक सीट न तो कांग्रेस और न ही बीजेपी जीतेगी, यहां की सीट अन्य के खाते में जाती दिख रही है। एग्जिट पोल के मुताबिक तमिलनाडु में कांग्रेस को भारी बढ़त दिख रही है। यहां की कुल 39 सीटों में कांग्रेस के खाते में 34-38 और एनडीए के खाते में 4 सीटें जा सकती हैं।

वहीं केरल में कांग्रेस नीत यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (UDF) को कुल 20 सीट में से 15-16 सीट मिलने का अनुमान है। वहीं लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट (LDF)को 3-5 से सीटें मिलने का अनुमान है। बीजेपी का यहां खाता खुलता नहीं दिख रहा है।

कांग्रेस को मिलेगा विपक्ष के नेता का पद!
एग्जिट पोल के नतीजों के अनुसार कांग्रेस को एक बार फिर लोकसभा में विपक्ष के नेता का पद से महरूम रहना पड़ सकता है। 2014 में कांग्रेस को लोकसभा में केवल 44 सीटें मिली थीं जबकि विपक्ष के नेता का पद पाने के लिए 54 सीटें जरूरी हैं। 2019 में भी कांग्रेस के सीटों का आंकड़ा 50 के पार पहुंचने की उम्मीद नहीं है।

Leave a Reply