Home समाचार पांचवें फेज की वोटिंग के बाद विपक्षियों ने भी माना, आएगा तो...

पांचवें फेज की वोटिंग के बाद विपक्षियों ने भी माना, आएगा तो मोदी ही

830
SHARE

लोकसभा चुनावों के लिए पांचवें चरण की वोटिंग के बाद देश में अगली सरकार फिर से नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में बननी तय हो गई है। अब तो विपक्षी पार्टियों के नेता भी अपनी हार स्वीकार करने लगे हैं। कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने खुलेआम कह दिया है कि उनकी पार्टी को सरकार बनाने लायक सीटें नहीं मिलेंगी। विपक्षी पार्टियों के गोपनीय सर्वे और चुनाव विश्लेषक भी यही कह रहे हैं। वोटिंग के आंकड़े भी बीजेपी की चुनावी जीत की ओर इशारा कर रहे हैं। आंकड़ों मे मुताबिक उन राज्यों में वोटिंग का प्रतिशत ज्यादा है, जहां बीजेपी की सरकार नहीं है। जैसे पश्चिम बंगाल, मध्य प्रदेश और राजस्थान। बंगाल में सबसे ज्यादा 74.4 प्रतिशत, मध्य प्रदेश में 65.5 प्रतिशत और राजस्थान में 63.7 प्रतिशत वोटिंग हुई। वहीं, बीजेपी शासित राज्यों में वोटिंग का आंकड़ा कम है। इसका स्पष्ट मतलब है कि गैर-बीजेपी शासित राज्यों में लोग बदलाव के लिए बड़ी तादाद में वोटिंग के लिए आ रहे हैं। वहीं, बीजेपी की सरकार वाले राज्यों जैसे यूपी, बिहार और झारखंड में लोग संतुष्ट हैं, इसलिए वोटिंग के आंकड़ों में खास बढोतरी नहीं हुई है।

यह भी पढ़ेंः पोल ऑफ पोल्स : एक बार फिर मोदी सरकार, लोकसभा चुनाव 2019 में एनडीए को पूर्ण बहुमत के संकेत

अपने दम पर बीजेपी को 300 से ज्यादा सीटें

23 मई को चुनावी नतीजे आने के बाद नरेन्द्र मोदी का दोबारा पीएम बनना निश्चित है, लेकिन खास बात यह है कि बीजेपी अपने दम पर 300 से ज्यादा सीटें जीत सकती है। पार्टी को पूर्वोत्तर के राज्य, प. बंगाल, बिहार, ओडिशा और असम जैसे राज्यों में बड़ी कामयाबी मिल सकती है और विपक्षियों का सूपड़ा साफ हो सकता है। सबसे बुरी खबर कांग्रेस पार्टी के लिए है। वोटिंग ट्रेंड्स बता रहे हैं कि कांग्रेस को इस बार देशभर में बमुश्किल 20 सीटें मिलेंगी।

 

Leave a Reply