Home नरेंद्र मोदी विशेष बहरीन में भारतीय समुदाय के साथ प्रधानमंत्री मोदी, देखिए तस्वीरें-

बहरीन में भारतीय समुदाय के साथ प्रधानमंत्री मोदी, देखिए तस्वीरें-

309
SHARE

बहरीन में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भारतीय लोगों की जमकर प्रशंसा की। प्रधानमंत्री मोदी भारतीय समुदाय को संबोधित करने जब स्टेडियम पहुंचे तो लोगों ने मोबाइल टॉर्च जलाकर उनका स्वागत किया। पूरा स्टेडियम में मोदी-मोदी के नारे से गूंजने लगा। प्रधानमंत्री मोदी ने एक विडियो भी ट्वीट किया, जिसमें यह भव्य नजारा देखा जा सकता है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आप लोगों की प्रशंसा सुनकर मेरा सीना गर्व से चौड़ा हो जाता है। आपके संस्कारों की प्रशंसा पूरी दुनिया में होती है। खचा-खच भरे स्टेडियम में भारतीय समुदाय को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि भारत की विविधता और रंग हमारी ताकत हैं। वे दुनिया को चकित और आकर्षित करते हैं। उन्होंने कहा कि वह भाग्यशाली हैं कि वह छोटे से खाड़ी देश की यात्रा करने वाले पहले भारतीय प्रधानमंत्री हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आपकी ईमानदारी, वफादारी, काम करने की क्षमता और भारतीयों के सामाजिक-आर्थिक जीवन में आपके योगदान की यहां काफी साख है। आपने अपनी कड़ी मेहनत से यहां अपने लिए एक स्थान बनाया है। हमें इस साख को मजबूत करना है। मैं जब भी भारतीय लोगों, भारतीय कारोबारियों और यहां बसे लोगों की तारीफ सुनता हूं तो मेरा दिल खुशी से भर जाता है।

प्रधानमंत्री ने कहा ‘बहरीन की मेरी यात्रा शासनाध्‍यक्ष के रूप में, प्रधानमंत्री के रूप में हो सकती है, लेकिन मेरा उद्देश्‍य यहां बसे भारतीयों से भेंट करना और बहरीन के लाखों मित्रों से बातचीत करना है। आज जन्‍माष्‍टमी का पवित्र त्‍यौहार है। मुझे बताया गया कि खाड़ी क्षेत्र में जन्‍माष्‍टमी के अवसर पर कृष्‍ण कथा सुनाने की परंपरा आज भी है। कल मैं श्रीनाथ जी के मंदिर जाऊंगा और आप सभी लोगों और आपके मेजबान देश की समृद्धि और शांति के लिए प्रार्थना करूंगा’।

प्रधानमंत्री ने कहा ‘मैं जानता हूं कि आप और भारत के श्रद्धालु किस प्रकार से इस त्‍यौहार को श्रद्धा और उल्‍लास के साथ मनाते हैं। यह खुशी की बात है कि कल इस मंदिर का पुनर्निमाण कार्य औपचारिक रूप से शुरू हो जाएगा’।

प्रधानमंत्री ने कहा कि भारतीयों की ईमानदारी निष्‍ठा और क्षमता और बहरीन के सामाजिक आर्थिक जीवन में उनके योगदान के कारण बहरीन में भारतीयों के प्रति सद्भाव है। प्रधानमंत्री ने कहा, ‘आप लोगों ने अपने कठोर परिश्रम से यहां अपने लिए स्‍थान बनाया है। हमें इस सद्भावना को मजबूत बनाना होगा। मैं जब कभी भी यहां सरकार के भारतीय सहयोगियों, यहां व्‍यवसाय करने वाले लोगों, यहां बसे लोगों, यहां काम करने वाले लोगों की प्रशंसा सुनता हूं, मेरा मन खुशी से भर जाता है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज भारत में लगभग प्रत्‍येक परिवार बैंकिंग सेवाओं से जुड़ा हुआ है। मोबाइल फोन, इंटरनेट भारत के सामान्‍य परिवार की पहुंच के भीतर है। दुनिया में सबसे सस्‍ता इंटरनेट डेटा भारत में उपलब्‍ध है। इस तरह के प्रयास किए जा रहे हैं जिससे भारत में अधिकतर सेवाएं डिजिटल दी जा सकें।

प्रधानमंत्री ने कहा प्रत्‍येक भारतीय को यकीन होने लगा है कि भारत के सपनों, उम्‍मीदों और आकाक्षांओं को पूरा किया जा सकता है। प्रधानमंत्री ने कहा, ‘हमारे लक्ष्‍य काफी ऊंचे है, लेकिन जब आपके पास 130 करोड़ लोगों की भुजाएं हों, आप प्रोत्‍साहित होते हैं। भारत आज न केवल सरकार के प्रयासों से बल्कि करोड़ों भारतीयों की भागीदारी से आगे बढ़ रहा है। सरकार केवल स्‍टीयरिंग पर है, देश की जनता ही एक्‍सीलरेटर दबा रही है।

उन्‍होंने कहा कि भीम ऐप, यूपीआई और जनधन खाते ने भारत में बैंकिंग तक आम नागरिकों की पहुंच बना दी है। हमारा रूपे कार्ड अब दुनियाभर में लेन-देन का प्राथमिक माध्‍यम बन गया है। अब हमारे रूपे कार्डों को दुनियाभर में बैंकों और बिक्रेताओं द्वारा स्‍वीकार किया जाता है।

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘मुझे खुशी है कि आप जल्‍द ही बहरीन में रूपे कार्ड से लेन-देन कर सकेंगे। रूपे कार्ड के इस्‍तेमाल के लिए आज एक समझौता ज्ञापन पर हस्‍ताक्षर किए गए। हमारा इरादा आप लोगों को भारत में अपने घर पर धनराशि भेजने के लिए रूपे कार्ड की सुविधा प्रदान करना है। अब आप यह कह सकेंगे कि बहरीन-रूपे से भुगतान।

उन्‍होंने कहा कि पिछले पांच वर्षों में हमारा प्रयास रहा है कि विदेशों में रह रहे करोड़ों भारतीयों और देश में रह रहे 130 करोड़ भारतीयों का सिर हमेशा ऊंचा रहे। आज यदि भारत दुनिया को सम्‍मान से देखता है, तो इसका एक बड़ा कारण आप जैसे लाखों साथी हैं।

भारत में विकास की चर्चा करते हुए, उन्‍होंने कहा कि समेकित गतिशीलता के लिए भारत ‘एक देश एक कार्ड’ की दिशा में बढ़ रहा है। पूरा भारत ‘एक देश एक ग्रेड’ और जीएसटी के रूप में ‘एक देश एक कर’ से जुड़ गया है। भारत में जीवन और व्‍यवसाय को सुगम बनाने के लिए सभी उपाय किए गए हैं। सभी समाधानों का अविष्‍कार भारत के युवाओं ने किया है। भारत के युवा वैश्विक एप्‍लीकेशनों के साथ स्‍थानीय समाधान ढूंढने के लिए काफी गंभीरता से कार्य कर रहे हैं। भारत की प्रतिभा को दुनियाभर में पहचान मिल रही है। उनकी प्रतिभा वैश्विक परियोजनाओं और संस्‍थाओं में आश्‍चर्यजनक कार्य कर रही है। छोटे से बजट में चन्‍द्रयान जैसी उपलब्धियां हासिल करने को लेकर भारत के वैज्ञानिकों की दुनिया में सराहना की जा रही है। यह गुण न केवल हमारे लिए फायदेमंद है बल्कि हमारी पहचान भी है। हम बजट पर ही ध्‍यान केन्द्रित नहीं करते बल्कि हमारे अंदर अपने लक्ष्‍य को हासिल करने की इच्‍छा शक्ति है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि 2022 में भारत अपनी आजादी के 75 वर्ष पूरे कर लेगा। मेरा आपसे आग्रह है कि आप अपने स्‍तर पर कुछ नई प्रतिज्ञाएं लें। आप फैसला कीजिए कि प्रत्‍येक व्‍यक्ति हर वर्ष बहरीन के अपने कुछ मित्रों को भारत के खूबसूरत पहाड़ी स्‍थानों से लेकर समृद्ध अध्‍यात्‍म और सांस्‍कृतिक विरासत को देखने के लिए भारत यात्रा करने के लिए प्रेरित करेगा। हमने शपथ ली है कि हम भारत को 2022 तक प्‍लास्टिक के एकल इस्‍तेमाल से मुक्‍त कर देंगे।

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘’आइये भारत और बहरीन अपने साझा मूल्‍यों और हितों की दिशा में मिलकर कार्य करें। भारत और बहरीन प्राचीन सभ्‍यता वाले आधुनिक देश हैं। दोनों देशों में काफी संभावनाएं हैं। मुझे पूर्ण विश्‍वास है कि बहरीन में मेरे भारतीय साथी भारत-बहरीन को नई ऊंचाइयों तक ले जाने के लिए संबंधों और संभावनाओं के इस बंधन को मजबूत बनाएंगे’’।

 

Leave a Reply