Home समाचार मामल्लापुरम में दो महाशक्तियों के बीच मुलाकात

मामल्लापुरम में दो महाशक्तियों के बीच मुलाकात

213
SHARE

तमिलनाडु में चेन्नई के पास मामल्लापुरम में आज दुनिया की दो महाशक्तियों के बीच मुलाकात हो रही है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी यहां चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ अनौपचारिक शिखर वार्ता करेंगे। इससे पहले दोनों नेताओं के बीच 14 बार मुलाकात हो चुकी है।

दोनों नेता पहले आमने-सामने की बातचीत करेंगे और बाद में शिष्‍टमंडल स्‍तर की वार्ता होगी। विदेश मंत्रालय के अनुसार ये शिखर वार्ता दोनों नेताओं को द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और वैश्विक महत्व के व्यापक मुद्दों पर बातचीत जारी रखने का अवसर प्रदान करेगी।

अनौपचारिक शिखर वार्ता के लिए मामल्लापुरम को अभेद्य किले में तब्दील कर दिया गया है। यहां प्रधानमंत्री मोदी के साथ शाम पांच बजे ‘अजुर्न पेनांस’, पांच बजकर 20 मिनट पर पांच रथ और पांच बजकर 45 मिनट पर प्रसिद्ध शोर मंदिर जाएंगे। यहां सांस्कृतिक समारोह में शामिल होने और अन्य नेताओं से मुलाकात के बाद वापस होटल लौट आएंगे।

प्रधानमंत्री मोदी और चीन के राष्ट्रपति के बीच फिर 12 अक्टूबर को सुबह नौ बजे फिर महाबलीपुरम में मिलेंगे और द्विपक्षीय वार्ता करेंगे। दिन का भोजन करने के बाद राष्ट्रपति जिनपिंग दोपहर बाद चीन के लिए रवाना हो जाएंगे।

मामल्‍लापुरम को महाबलीपुरम के नाम से भी जाना जाता है। मामल्लापुरम यूनेस्‍को विश्‍व धरोहर शहर है। शिखर वार्ता को लेकर इलाके का सौंदर्यीकरण किया गया है। इस स्थल का ऐतिहासिक महत्व है और ये चीन से सदियों पहले से जुड़ा हुआ है। तमिलनाडु का यह प्राचीन शहर अपने भव्य मंदिरों, स्थापत्य और सागर-तटों के लिए बेहद ही लोकप्रिय है।

तमिलनाडु का यह प्राचीन शहर अपने भव्य मंदिरों, स्थापत्य और सागर-तटों के लिए बेहद ही लोकप्रिय है। द्रविड वास्तुकला की दृष्टि से यह शहर अग्रणी स्थान रखता है। सातवीं शताब्दी में यह शहर पल्लव राजाओं की राजधानी था और इस दौरान चीन के साथ कई स्तरों पर संबंध भी थे।

महाबलीपुरम का चीन से करीब 2000 साल पुराना संबंध है। इतिहासकारों का कहना है कि चीनी व्यापारी हुआन चियांग ने यहां का दौरा किया था। ऐसा माना जाता है कि चीन व्यापारी यहां व्यापार के लिए आते थे।

Leave a Reply