Home नरेंद्र मोदी विशेष दिशा सही हो, नीति साफ हो और नीयत नेक हो तो विकास...

दिशा सही हो, नीति साफ हो और नीयत नेक हो तो विकास होकर रहता है: प्रधानमंत्री मोदी

1317
SHARE

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को इंडोनेशिया की राजधानी जकार्ता में भारतीय समुदाय के लोगों को संबोधित किया। इस दौरान श्री मोदी ने पिछले 4 वर्षों में भारत की विकास यात्रा को विस्तार से बताते हुए कहा, ‘देश में वही कानून हैं, बाबू भी वही हैं, अफसर भी वही हैं, दफ्तर भी वही हैं, सिर्फ सरकार बदली है और देश बदल रहा है।’ उन्होंने कहा, ‘यदि दिशा सही हो, नीति साफ हो, नीयत नेक हो तो विकास होकर रहता है और यह हमने कर के दिखाया है।’

इंडोनेशिया के विकास में भारतीयों का बड़ा योगदान
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘इंडोनेशिया में बड़ी संख्या में भारतीय मूल के लोग कई पीढ़ियों से बसे हैं, जबकि कई लोग 2-3 दशकों से यहां रह रहे हैं। आप लोगों ने कठिन परिश्रम से खुद को यहां के परिवेश के अनुकूल बनाया है और इंडोनेशिया के विकास में अहम योगदान भी दे रहे हैं।‘ श्री मोदी ने कहा कि आपके पूर्वजों को अलग-अलग परिस्थियों की वजह से भारत छोड़ना पड़ा होगा, लेकिन आज के दौर में दुनियाभर में भारत की मजबूत पहचान बनी है। आज दुनिया के किसी भी देश में रहने वाला भारतीय पहले की तुलना में सीना तान कर चलता है, आंखें मिलाकर बात करता, यही बदला हुआ हिंदुस्तान है।

तेजी से प्रगति कर रहा है भारत
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि पिछले 4 वर्षों ने भारत ने तेजी से प्रगति की है और दुनिया की अर्थव्यवस्था को आगे बढ़ाने में सक्रिय भूमिका अदा की है। आज भारत दुनिया की सबसे Open Economies में से एक है। भारत में रिकॉर्ड एफडीआई हो रहा है। Foreign Exchange Reserve 300 बिलियन डॉलर से बढ़कर 400 बिलियन डॉलर के पार पहुंच गया है। Green Field FDI आकर्षित करने में भारत दुनिया में नंबर एक देश बन गया है। FDI Confidence Index में भारत शीर्ष के दो इमर्जिंग मार्केट में से एक है। वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम के Global Competitiveness Index में भारत की रैंकिंग 71 से सुधर कर 40 पहुंच गई है। ईज ऑफ डूइंग बिजनेस में भारत 142 से 100वें नंबर पर आ चुका है। Logistics performance index में 19 अंको का सुधार हुआ है, Global Innovation Index में भारत की रैंकिंग 21 अंक उछली है। अंकटाड की रिपोर्ट में भारत को भविष्य की मजबूत अर्थव्यवस्थाओं में टॉप तीन में रखा गया है। इतना ही नहीं पिछले 14 वर्षों में पहली बार मूडीज ने भारत की क्रेडिट रेटिंग में सुधार किया है।

सरकार का मंत्र है Minimum Government, Maximum Governance
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘सरकार ने Minimum Government, Maximum Governance के मंत्र के साथ Good Governance पर बल दिया है। सरकार आखिरी व्यक्ति तक प्रशासनिक, वित्तीय और कानूनी कदमों का फायदा पहुंचा रही है। हमारी सरकार के लिए Corruption Free, Citizen Centric, डेवलपमेंट फ्रेंडली इकोसिस्टम प्राथमिकता है।’ आज देश बदल चुका है, पासपोर्ट के लिए अब भारत में महीनों इंतजार नहीं करना पड़ता है, चंद दिनों में पासपोर्ट घर पहुंच जाता है। सरकार ने इंडोनेशिया समेत 163 देशों में लोगों को ईवीजा की सुविधा दे दी है। इससे भारत आने वालों की संख्या में 150 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है।

‘Ease of Living’ पर है सरकार का ध्यान
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि सरकार ध्यान ‘Ease of Living’ पर केंद्रित है। बीते वर्षों में भारत में सरकार ने 1400 पुराने कानूनों को खत्म किया है। भारत में ऐसे सिस्टम का निर्माण किया जा रहा है जो Transparent हो , लेकिन Sensitive भी हो। पिछली सरकार की तुलना में भारत में रेलवे लाइनों को ब्रॉड गेज में बदलने की रफ्तार डबल हो गई है, रेलवे लाइन का बिजलीकरण तीन गुना हो गया है। ग्रामीण सड़कें और हाईवे दोगुनी रफ्तार से बनाए जा रहे हैं। पॉवर ट्रांसमिशन लाइन बिछाने का काम भी दोगुनी रफ्तार से हो रहा है। पिछली सरकार के अंतिम चार वर्षों के सिर्फ 59 ग्राम पंचायतों के मुकाबले हमारी सरकार ने चार साल में 1,10,000 ग्राम पंचायतों को ऑप्टिकल फाइबर से जोड़ दिया है।

प्रधानमंत्री मोदी ने बताया कि पिछली सरकार में जहां सिर्फ 28 योजनाएं डीबीटी के जरिए जुड़ी थी, वहीं आज 400 से अधिक सरकारी योजनाओं का पैसा सीधे बैंक खातों में जमा किया जा रहा है। पहले एलईडी बल्ब 400 रुपये में बिकता था, आज सिर्फ 40-50 रुपये में मिलता है। भारत में आज बड़ी संख्या में नए इंजीनियरिंग,मेडिकल, मैनेजमेंट कॉलेज खुल रहे हैं। पिछले ढाई साल में 9,000 से ज्यादा स्टार्टअप रजिस्टर किए गए हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आज भारत न्यू इंडिया के संकल्प के साथ तेज गति से आगे बढ़ रहा है।

4 वर्षों में भारत-इंडोनेशिया के संबंध मजबूत हुए
पीएम मोदी ने कहा कि भारत जहां दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है, वहीं इंडोनेशिया में भी लोकतंत्र की जड़ें बहुत ही मजबूत हैं। भारत और इंडोनेशिया का नाता सदियों पुराना है और दोनों देश सामाजिक, सांस्कृतिक विविधिता और सदभाव के प्रतीक हैं। श्री मोदी ने कहा कि बीचे 4 वर्षों से हमारे संबंधों में प्रगाढ़ता आई है, आज चाहे राजनयिक और सामरिक संबंध हों या फिर आर्थिक सहयोग, दोनों देश साथ मिलकर चुनौतियों का मुकाबला कर रहे हैं और अवसरों का फायदा उठा रहे हैं। उन्होंने बताया कि आज दोनों देशों ने एक कदम आगे बढ़ा कर Comprehensive Strategic Partnership का दर्जा दिया है। इंडोनेशिया आसियान देशों में भारत का सबसे बड़ा व्यापारिक साझेदार है। दोनों देशों का व्यापार 18 अरब डॉलर तक पहुंच गया है।

इस मौके पर प्रधानमंत्री ने बताया कि इंडोनेशिया के नागरिकों को 30 दिन के लिए भारत यात्रा के निशुल्क वीजा की व्यवस्था की जा रही है। प्रधानमंत्री ने इंडोनेशिया में बसे भारतीयों को भारत आने के लिए आमंत्रित किया, ताकि वे भारत में हो रहे बदलाव को अनुभव कर सकें।

Leave a Reply