Home समाचार मोदी सरकार की नीतियों को शेयर बाजार का सलाम, 32 हजार के...

मोदी सरकार की नीतियों को शेयर बाजार का सलाम, 32 हजार के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा सेंसेक्स

2211
SHARE

भारतीय शेयर बाजार एक बार फिर उछाल पर है और उसने नया रिकॉर्ड कायम किया है। पहली बार सेंसेक्स 32,000 का आंकड़ा पार गया है। यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आर्थिक नीतियों का असर है। मोदी सरकार के साहसिक और त्वरित फैसले लेने, उसे लागू करने के लिए आगे बढ़कर काम करने की कार्यशैली से भारतीय अर्थव्यवस्था में दिन-ब-दिन सुधार हो रहा है। शेयर बाजार पर भी उसी का असर दिख रहा है।

यह कोई पहला मौका नहीं है जब शेयर बाजार ने मोदी सरकार की नीतियों को सलामी दी हो। मोदी सरकार के तीसरी वर्षगांठ पर जब केंद्र सरकार ने तीन साल का लेखा-जोखा 26 मई, 2017 को जारी किया। तब शेयर बाजार का संवेदी सूचकांक पहली बार 31,000 के आंकड़े को पार किया था। तब सेंसेक्स का यह उछाल ऐतिहासिक था। ठीक डेढ़ महीने बाद एक राष्ट्र, एक कर और एक बाजार की परिकल्पना के साथ जीएसटी आया है तो संवेदी सूचकांक एक बार फिर नए कीर्तिमान के साथ ऐतिहासिक 32,000 के आंकड़े को पार कर गया है।

इससे पहले भी मोदी सरकार की वर्षगांठ के मौकों पर शेयर बाजार में तेजी लगातार देखने को मिली है। पहली बार मार्च, 2015 में सेंसेक्स ने 30,000 का आंकड़ा पार किया था। उसे मोदी सरकार की तब तक घोषित की जा चुकी नीतियों का समर्थन माना गया। संसेक्स दोबारा 26 अप्रैल, 2015 को 30,000 के जादुई आंकड़े को पार किया जो 28 अगस्त तक अपने रिकॉर्ड पर कायम रहा।

मोदी सरकार के पांच साल के कार्यकाल के अहम तीन साल पूरे हो चुके हैं। सरकार अपनी अहम नीतियों को जमीन पर उतार चुकी है। ऐसे में सेसेंक्स मजबूती के साथ 32,000 के जादुई आंकड़े को पार करना बताता है कि मोदी सरकार की आर्थिक नीतियां देश को बेहतर से बेहतर करने की दिशा में है। 

Leave a Reply