Home समाचार ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ पर सवाल उठाकर सेना पर ‘पत्थरबाजी’ कर रहे देश के...

‘सर्जिकल स्ट्राइक’ पर सवाल उठाकर सेना पर ‘पत्थरबाजी’ कर रहे देश के ‘गद्दार’ !

374
SHARE

28 और 29 सितंबर, 2016 की रात में भारत की सेना ने पाकिस्तान की सीमा में घुसकर ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ की थी। इस ऑपरेशन में पाकिस्तान के 38 से अधिक आतंकी और सेना के जवान मारे गए थे। देश के लोग जहां सेना के इस शौर्य और पराक्रम की प्रशंसा करते नहीं थकते, वहीं कांग्रेस समेत कुछ राजनीतिक दल, नेता और पत्रकार इस पर सवाल उठाते रहे हैं।

गौरतलब है कि पाकिस्तान के तत्कालीन पीएम नवाज शरीफ ने भी भारतीय सेना के ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ की बात मानी थी। जाहिर है इतनी बड़ी कार्रवाई किसी भी देश की सेना करती तो आम नागरिकों के साथ राजनीतिक बिरादरी भी विरोधी मतों के होने के बाद भी देश के सम्मान के साथ खड़ी रहती। लेकिन भारत में ‘देश विरोधियों’ की कमी नहीं है जो देश की सेना पर भी सवाल उठाने से नहीं चूकते।

आइये हम ऐसे ही कुछ नेताओं के बयानों पर नजर डालते हैं जिन्होंने इस वीडियो के जारी होने के बाद भी ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ पर सवाल उठाए…

संजय निरुपम ने ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ को ‘फेक’ कहा
कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने सर्जिकल स्ट्राइक के वीडियो को भी फेक बता दिया।  निरुपम ने कहा, ’सर्जिकल स्ट्राइक का वीडियो फेक है मैं इस सबूत को नहीं मानता। भारत की सरकार ने कंप्यूटर की मदद से ये फर्जी वीडियो तैयार किया है ये वीडियो फेक है और कोई सर्जिकल स्ट्राइक नहीं किया गया है।‘

सलमान खुर्शीद ने वीडियो को ‘प्रोपेगेंडा’ कहा
कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद ने इसे प्लांटेड प्रोपेगेंडा करार दिया। सलमान खुर्शीद ने ट्वीट में लिखा, ’हर चैनल सर्जिकल स्ट्राइक के वीडियो को एक्सक्लूसिव कह रहा है, लेकिन इसे सरकार का प्लांटेड प्रोपेगेंडा के मक़सद से लाया गया है।‘

रणदीप सुरजेवाला ने इसे ‘वोट की राजनीति’ कहा
कांग्रेस ने रणदीप सुरजेवाला ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा, ’सत्तारूढ़ पार्टी को यह याद रखना होगा कि वो सेना के बलिदान को वोट हासिल करने के लिए इस्तेमाल नहीं कर सकती। जहां सैनिकों ने देश पर अपनी जान को न्योछावर कर दिया, वहीं मोदी जी अपनी तारीफ में लगे हुए थे।‘

असदुद्दीन ओवैसी  ने कहा अब भी हो रहे आतंकी हमले
एआईएमआईएम के मुखिया असदुद्दीन ओवैसी ने कहा, ’सवाल ये नहीं है कि ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ को अंजाम नहीं दिया गया। सवाल ये है कि इसके बाद कश्मीर में हालात सामान्य नहीं है। घाटी में पहले की तरह ही आतंकी हमले हो रहे हैं।‘


इन्होंने मांगे मांगे थे ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ के सबूत

अरविंद केजरीवाल : दिल्ली के सीएम ने ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ सबूत मांगे थे। तब पाकिस्तानी मीडिया ने केजरीवाल के बयान को हाथों-हाथ लिया था।

पी चिदंबरम : पूर्व गृह मंत्री  पी चिदंबरम ने  कहा था कि सरकार को पब्लिक की मांग पर ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ का वीडियो जारी करना चाहिए।

संजय निरुपम :  महाराष्ट्र कांग्रेस के नेता ने ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ को सिरे से नकार दिया था और इसे बीजेपी का स्टंट करार देते हुए सबूत पेश करने को कहा था।

LEAVE A REPLY