Home नरेंद्र मोदी विशेष मोदी सरकार : अब चुटकियों में हल होती हैं समस्याएं

मोदी सरकार : अब चुटकियों में हल होती हैं समस्याएं

जनता के लिए मोदी सरकार के तेज फैसलों पर रिपोर्ट

1693
SHARE

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुआई में बनी केंद्र सरकार पर देश भर में लोगों का विश्वास यूं ही नहीं बढ़ रहा है। जनता ने महसूस किया है कि ये सरकार 24×7 उसके साथ है..किसी भी तरह की आवश्यकता पड़ने पर, बड़े संकट आने पर यहां तक कि किसी व्यवस्था की शिकायत मिलने पर फौरन सरकारी तंत्र की ओर से उसका निदान भी किया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ही नहीं उनकी सरकार के सभी मंत्री, मंत्रालयों तक सोशल मीडिया के जरिए भी जनसामान्य की बातें पहुंचती रहती हैं। कार्रवाई की तेजी तो यहां तक देखी गई है कि पीएम मोदी ने उत्तर प्रदेश में एटा के एक गांव में 11 साल बाद बिजली व्यवस्था बहाल करने के लिए सीधा दखल दिया तो सोशल मीडिया पर ट्रेन में मुसाफिर की ओर से जताई गई परेशानी को भी सीधा रेल मंत्री ने दूर करवाने का इंतजाम करवाया है।

सरकार-जनता एक-दूसरे से कनेक्टेड
सोशल मीडिया से कनेक्टेड होने के चलते मोदी सरकार के मंत्रालयों तक आज जनता की भी सीधी पहुंच है। साथ ही मंत्री भी जनता की किसी भी जरूरत में फौरन हाजिर होते हैं। जनता की उपेक्षा किसी हाल में नहीं हो सकती, इस बारे में जानकारी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मन की बात से जुड़ी किताब से भी सामने आई है। ‘मन की बात-रेडियो पर सामाजिक क्रांति’ नाम की इस किताब में कार्यक्रम के संचालन से जुड़ी टीम के लोग बताते हैं कि लोगों के जो महत्वपूर्ण विचार या सरकार को दी गई राय मन की बात के प्रसारण का हिस्सा नहीं बनते, उन्हें भी संबंधित विभागों के पास भेजा जाता है। इसका मकसद होता है ये परखना कि जनता के किसी विचार या सलाह से सरकार या देशवासी किसी का भला हो सकता है तो उस पर भी आगे की कार्यवाही तय की जाए।

हर जरूरत में हाजिर मोदी सरकार
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लोगों की समस्याओं या किसी खास स्थिति में उनकी जरूरतें पूरी करने के लिए टेक्नोलॉजी के इस्तेमाल पर हमेशा जोर देते रहे हैं । प्रधानमंत्री कार्यालय-PMO हो या विदेश मंत्रालय या रेल मंत्रालय, सोशल मीडिया से जुड़े होने के कारण ऐसे सभी अहम मंत्रालय आज अचानक पैदा हुई किसी भी स्थिति को लगे हाथ सुलझाने को तैयार हैं। देश के लिए आज सबसे बड़ी बात तो ये है कि प्रधानमंत्री खुद आगे बढ़कर जनसामान्य की सुध ले रहे हैं। सब देख चुके हैं कि कैसे प्रधानमंत्री मोदी की पहल पर एक मुस्लिम छात्रा को लोन मुहैया कराया गया। कर्नाटक के मांड्या की रहने वाली सारा को एमबीए की पढ़ाई के लिए एजुकेशन लोन चाहिए था लेकिन बैंक ने उसे लोन देने में असमर्थता जताई थी। बैंक के रुख से निराश सारा ने प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर मदद मांगी। पत्र मिलने के साथ पीएमओ फौरन मामले में सक्रिय हुआ और बैंक के जरिए सारा को दस दिन के भीतर डेढ़ लाख रुपये का एजुकेशन लोन मुहैया करवाने में मदद की गई। सारा के पिता ने प्रधानमंत्री को ये कहते हुए धन्यवाद दिया कि उन्हें उम्मीद नहीं थी कि एक पत्र पर मदद के लिए वो खुद इस तरह से आगे आएंगे। इससे पहले इस तरह की मदद का कदम उठाते हुए आपने किस प्रधानमंत्री को देखा था..या सुना था?

PMO की पहल पर 11 साल बाद बिजली बहाल
पीएमओ की पहल पर ही उत्तर प्रदेश के एटा के भिड़इया गांव में 11 साल बाद नये सिरे से विद्युतीकरण का काम शुरू करवाया गया। एक छात्रा ने पीएमओ की वेबसाइट पर शिकायत कर ये जानकारी दी थी कि 2005 में आंधी में तार टूटने के बाद प्रशासन और शासन में से कोई भी गांव में बिजली बहाली की सुध नहीं ले रहा। पीएमओ के संज्ञान लेते ही विद्युत निगम के अफसरों की नींद खुली और 15 दिन के अंदर बजट आवंटित होने के साथ गांव में दोबारा बिजली बहाल करवाई गई।

गरीब की बेटी की शादी में मदद की पहल
पीएमओ ने तो आर्थिक तंगी से जूझ रहे शख्स के सामने बेटी की शादी को लेकर आ रही मुसीबत में भी आगे आने का काम किया है। वाराणसी में सारनाथ के सारंग तालाब निवासी जितेंद्र साहू को बेटी की शादी के लिए पीएमओ की पहल पर पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग से 50 हजार रुपये का चेक दिलवाया गया। बेटी की शादी के निमंत्रण कार्ड के साथ जितेंद्र ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आर्थिक मदद के लिए एक पत्र लिखा था जिसके बाद पीएमओ ने जिलाधिकारी को खत लिखकर मदद मुहैया कराने का निर्देश दिया था। ये सब कुछ विरले उदाहरण हैं जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को औरों से बिल्कुल अलग करते हैं। उन्होंने पीएमओ को कार्यकुशलता के साथ ढाला है तो इसके केंद्र में भी आम जनता है। भारत में आज सचमुच आम जनता की सरकार है, ये समझने के लिए इससे बड़ी आदर्श मिसाल क्या हो सकती है।

प्रधानमंत्री मोदी ने और मंत्रालयों में भी भरी तेजी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दूसरे और मंत्रालयों में भी पीएमओ जैसी तेजी भरने का काम किया है। विदेशों में संकट में फंसे भारतीयों की मदद में आज हमारा विदेश मंत्रालय भी किस कदर तेजी दिखाता है इसकी बानगी भी दुनिया देख चुकी है। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने तो खुद किसी भी मुसीबत की घड़ी आने पर लोगों को निजी मदद का आश्वासन दे रखा है। भारतीय उच्चायोग को ट्वीट करने पर विदेशों में बसे भारतीयों को भी किसी खास घड़ी में मदद मिल रही है। यमन समेत विदेश के कई देशों में फंसे भारतीयों की सुरक्षित वापसी करवाकर विदेश मंत्रालय ने भी जनता का विश्वास जीता है। सोशल मीडिया इसमें आज बड़ा रोल निभा रहा है।

रेल यात्रियों की ऐसी सुध पहले कभी नहीं
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनता की समस्याओं की त्वरित सुनवाई का एक ऐसा माहौल पैदा किया है जिसका असर सरकार के हर विभाग में नजर आ रहा है। भारतीय रेलवे भी आज सोशल मीडिया के सहारे जरूरत में यात्रियों की मदद कर रहा है। रेल मंत्रालय में तो इसके लिए खासकर एक ट्विटर कंट्रोल रूम काम कर रहा है जो चौबीसों घंटे पैसेंजर की शिकायतों का तुरंत संज्ञान लेता है। किसी भी रेल यात्री का ट्वीट आने के बाद यहां बैठी टीम पांच मिनट के भीतर उस यात्री की समस्या को दूर करवाती है। मुंबई से बिहार के दरभंगा जा रही एक ट्रेन में जयश्री नाम की महिला अपने बेटे के साथ यात्रा कर रही थीं। यात्रा के दौरान जबलपुर में उनके बेटे की तबीयत खराब हो गई। जयश्री को कुछ सूझ नहीं रहा था कि क्या करें, ऐसे में उन्हें रेल मंत्री सुरेश प्रभु को ट्वीट करने का ख्याल आया। उनके ट्वीट करने के तुरंत बाद कटनी स्टेशन पर रेलवे अफसर डॉक्टर के साथ हाजिर थे। सोशल मीडिया के जरिए रेल यात्रियों को मदद पहुंचाने के ऐसे कई उदाहरण हैं जहां ठंड में ठिठुरने की शिकायत पर फौरन कंबल तक मुहैया कराये जा रहे हैं। इतना ही नहीं समस्या के निस्तारण की व्यवस्था सुदृढ़ रहे इसके लिए अलग-अलग मंत्रालयों के ऐप भी हैं।


सरकार जनता के तालमेल से है ये तेजी
अपनी सरकार के तीन साल पूरे होने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि उनकी सरकार जनता के सहयोग से चल रही है इसलिए उनके हर कदम में जनता की भावनाओं की अभिव्यक्ति होती है। गरीब, किसान, महिलाएं, युवा पीढ़ी समेत समाज का हर वो वर्ग जिसके विकास जिसकी बेहतरी के साथ ही देश की तरक्की में रफ्तार भरेगी, मोदी सरकार उन सब वर्गों के हित को ध्यान में रखकर ही देश को विकास की दिशा में तेजी से ले जा रही है। दरअसल ये मोदी सरकार और जनता के बीच तालमेल का गाढ़ा रंग है जो ‘सबका साथ सबका विकास’ का सपना पूरा होता नजर आ रहा है। मौजूदा सरकार देशवासियों के मजबूत भविष्य के लिए एक ठोस विजन के साथ एकमुश्त कई योजनाओं पर अमल तो कर ही रही है, वो जनता की किसी भी तात्कालिक जरूरत में हर वक्त मुस्तैदी से सामने आ रही है। देश के लिए तन,मन और जीवन समर्पित करने का संकल्प ले चुके प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार और जनता के भरोसे की डोर अब अटूट बन चुकी है।

Leave a Reply