Home पोल खोल इंदिरा के ‘तीसरे बेटे’ ने बंद की ‘दूसरी आजादी’ दिलाने वालों की...

इंदिरा के ‘तीसरे बेटे’ ने बंद की ‘दूसरी आजादी’ दिलाने वालों की पेंशन

838
SHARE

इंदिरा गांधी ने 1975 में देश में आपातकाल लगाया था। इसका विरोध करने पर देशभर में हजारों-लाखों लोगों को जेल में ठूंस दिया गया था। इसके खिलाफ जिन लोगों ने आजादी की ‘दूसरी लड़ाई’ लड़ी, जेल गए, यातना सही उनको मिलने वाली पेंशन इंदिरा गांधी के ‘तीसरे बेटे’ कमलनाथ ने बंद कर दी। कमलनाथ सरकार ने जिन हजारों मीसाबंदियों की पेंशन बंद की है, उनके परिवार के सामने रोजी रोटी का संकट खड़ा हो गया है।  

Image result for kamalnath indira

“कमलनाथ कांग्रेस नेता नहीं हैं। वे राजीव और संजय के बाद मेरे तीसरे बेटे हैं। आप इन्हें जिताकर दिल्ली भेजिए।”

इंदिरा गांधी, प्रधानमंत्री

छिंदवाड़ा, 13 दिसंबर, 1980

Image result for kamalnath indira

विवादों के घेरे में कमलनाथ  

कमलनाथ आपातकाल के सबसे बड़े खलनायक संजय गांधी के करीबी दोस्त रहे

आपातकाल के दौरान संजय के इशारे पर कमलनाथ को खूब सरकारी ठेके मिले

तिहाड़ जेल में बंद संजय गांधी की सेवा करने के लिए कमलनाथ जज से भिड़ गए

जुर्माना देने के बजाए तिहाड़ जेल में 7 दिन की सजा भुगतना मंजूर किया

इंदिरा की हत्या के बाद सिख विरोधी दंगों में शामिल होने का आरोप लगा

1 नवंबर, 1984 को गुरुद्वारा रकाबगंज के बाहर भीड़ में मौजूद थे कमलनाथ

Image result for kamalnath indira

‘तीसरे बेटे’ के कच्चे चिट्ठे  

गुप्त बैठक में मुसलमानों से कांग्रेस को 90% वोट देने की अपील की

मुख्यमंत्री बनते ही यूपी-बिहार वालों को नौकरी ना देने का बयान दिया

मंत्रालय में महीने के पहले दिन होने वाला वंदे मातरम् गायन बैन किया 

धनकुबेर कमलनाथ

लगभग 207 करोड़ रुपए की चल-अचल संपत्ति

कमलनाथ और उनके परिवार की 23 कंपनियां

देश के 5 सबसे अमीर सांसदों में शामिल

छिंदवाड़ा में 10 एकड़ में आलीशान कोठी

Leave a Reply