Home समाचार ईटी एक्सक्लूसिव: आंत्रप्रेन्योर हमारे ग्रोथ एंबेसडर, भारत को बनाएंगे कारोबार करने के...

ईटी एक्सक्लूसिव: आंत्रप्रेन्योर हमारे ग्रोथ एंबेसडर, भारत को बनाएंगे कारोबार करने के लिए और बेहतर जगह- पीएम मोदी

217
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि आंत्रप्रेन्योर हमारे ग्रोथ एंबेसडर हैं और हम भारत को कारोबार करने के लिए और बेहतर जगह बनाएंगे। अंग्रेजी अखबार इकनॉमिक टाइम्स को दिए इंटरव्यू में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘मैं उद्यमियों (आंत्रप्रेन्योर) को भारत का ग्रोथ एंबेसडर मानता हूं। मैं उन्हें बताना चाहता हूं कि हमारी सरकार भारत को कारोबार करने के लिए एक बेहतर जगह बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ेगी। हम चाहते हैं कि आंत्रप्रेन्योर बेहतर उत्पादकता और बेहतर मुनाफा प्राप्त करें, हम चाहते हैं कि हमारे उद्योग तेज गति से आगे बढ़ें, हम चाहते हैं कि उनकी देश-विदेश के बड़े बाजारों तक पहुंच हो, हम चाहते हैं कि हमारे निवेशक अधिक कमाएं, अधिक निवेश करें और अधिक नौकरियां पैदा करें।’

प्रधानमंत्री मोदी ने रविवार को कहा कि वह भारत को दुनिया का सबसे अच्छा निवेश ठिकाना बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। इकनॉमिक टाइम्स से बातचीत में श्री मोदी ने कहा, ‘सिर्फ देश के लोगों को भारत से उम्मीद नहीं है, वैश्विक ग्रोथ और विकास के संदर्भ में भी हमसे काफी आशाएं हैं।’ जीएसटी पर उन्होंने कहा कि जीएसटी को लेकर सरकार का अगला कदम इस सिस्टम के फायदों के बारे में ग्राहकों को जागरूक करने का होगा। उन्होंने कहा, ‘वर्तमान में यह पूरी तरह से गायब है। इस सिस्टम के अंतर्गत कस्टमर्स को फायदों के बारे में जानना चाहिए।’ प्रधानमंत्री मोदी ने आगे कहा कि एक स्टडी के मुताबिक जीएसटी रेट कटौती औसतन एक मिडल क्लास फैमिली को सालाना 1,500 रुपये बचाने में मदद करती है।

अखबार को दिए इंटरव्यू में प्रधानमंत्री ने आर्टिकल 370 पर केंद्र सरकार के फैसले को प्रदेश के विकास के लिए अहम फैसला बताया। उन्होंने कहा कि घाटी में 370 हटने के बाद से रोजगार और निवेश के अवसर पैदा होंगे। निवेश से रोजगार बढ़ेगा और युवाओं की तरक्की के नए रास्ते भी इससे खुलेंगे। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि अनुच्छेद 370 पर लिए गए हालिया फैसले के बाद जाने-माने उद्यमियों ने जम्मू-कश्मीर में निवेश करने में रुचि दिखाई है। नवभारत टाइम्स के अनुसार उन्होंने कहा कि ‘क्लोज्ड एनवायरमेंट’ में आर्थिक विकास संभव नहीं है और इंटीग्रेशन से निवेश, इनोवेशन और आमदनी बढ़ेगी। खुले विचार और खुली अर्थव्यवस्था ही क्षेत्र के युवाओं की प्रगति के रास्ते पर आगे बढ़ने की दिशा तय करेंगे। एकता ही निवेश को, नए प्रयोग और आमदनी को बढ़ाने वाले हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने निवेश के लिए अनुकूल परिस्थितियां बनाने पर जोर देते हुए कहा, ‘निवेश के लिए कुछ परिस्थितियां जरूरी हैं जैसे स्थिरता, मार्केट तक पहुंच और कानूनों की निश्चित व्यवस्था उनमें से कुछ है। आर्टिकल 370 पर फैसला इन परिस्थितियों के निर्माण को सुनिश्चित करेगा। जम्मू-कश्मीर में इस कारण से कुछ क्षेत्रों में निवेश के अवसर बहुत बढ़ेंगे जैसे पर्यटन, खेती, आईटी और हेल्थकेयर इनमें से कुछ हैं। इस फैसले के बाद से एक इकोसिस्टम का निर्माण होगा जिससे प्रदेश के स्किल, मेहनत और उत्पादों के लिए बेहतर परिणाम लेकर आएगी।’

जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के युवाओं के लिए शैक्षिक अवसर तय करने पर जोर देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि यह इलाके में बेहतर वर्कफोर्स भी तैयार करेगा। उन्होंने कहा, ‘शिक्षा के क्षेत्र में बेहतरीन संस्थान जैसे आईआईटी, आईआईएम, एम्स से न केवल क्षेत्र के युवाओं के लिए शैक्षिक अवसर बढ़ेंगे बल्कि क्षेत्र में बेहतर वर्कफोर्स भी तैयार होगा।’

जम्मू-कश्मीर में बेहतर कनेक्टिविटी पर जोर देते हुए इकनॉमिक टाइम्स को दिए इंटरव्यू में पीएम मोदी ने कहा ने कहा कि यह सरकार की प्राथमिकता है। उन्होंने कहा, ‘क्षेत्र को दूसरे माध्यमों से जोड़ने के लिए सड़क, नई रेल लाइन और एयरपोर्ट का आधुनिकीकरण आदि पर काम प्रस्तावित है। देश के दूसरे हिस्सों से बेहतर कनेक्टिविटी, और निवेश का अच्छा माहौल प्रदेश के विकास चक्र को आम आदमी की संपन्नता को बढ़ाएगा। क्षेत्र के स्थानीय उत्पाद बेहतर कनेक्टिविटी के कारण पूरे देश और विदेश तक पहुंच सकेंगे।’

Leave a Reply