Home विचार प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी युवाओं के ‘ रोल मॉडल’ हैं

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी युवाओं के ‘ रोल मॉडल’ हैं

1275
SHARE

माइक्रोसॉफ्ट के मालिक बिल गेट्स और गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई के गुणों से कहीं अधिक प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के गुणों से देश के युवा प्रभावित हैं और उनके गुणों को आत्मसात करने की इच्छा रखते हैं, ऐसा हिन्दुस्तान टाइम्स के वार्षिक सर्वेक्षण का आकलन है। सर्वेक्षण के अनुसार देश के युवाओं का 11 प्रतिशत जहां सुंदर पिचाई को और 25.5 प्रतिशत बिल गेट्स को अपना रोल मॉडल मानता है, वहीं सबसे अधिक 34.4 प्रतिशत युवा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को अपना रोल मॉडल मानता है। यह उनकी चारित्रिक विशेषताओं का परिणाम है कि वे लगातार पिछले पांच वार्षिक सर्वेक्षणों में देश के युवाओं के नायक बने हुए हैं।

प्रधानमंत्री का व्यक्तित्व और कार्यशैली प्रभावित करती है- प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के व्यक्तित्व की कुछ ऐसी विशेषताएं हैं, जो सभी के दिलों को छू जाती हैं। उनका अवसर के अनुरूप वेश-भूषा और बातचीत की शैली सभी के मन को प्रभावित तो करती ही है, साथ में उनका काम करने का तरीका भी सबको खूब भाता है। प्रधानमंत्री के निर्णय लेने की क्षमता और उसे क्रियान्वित करने की इच्छाशक्ति उन्हें देश के अन्य राजनीतिक नेताओं से अलग करती है। हिन्दुस्तान टाइम्स के ताजा सर्वेक्षण भी इसी तथ्य की पुष्टि करते हैं। सर्वेक्षण के आकलन कहते हैं कि वर्तमान राजनीतिक परिदृश्य में केजरीवाल, राहुल गांधी और सोनिया गांधी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से स्वीकार्यता के मामले में बहुत पीछे हैं। नरेन्द्र मोदी को 47.5 प्रतिशत लोग ‘आईकॉन’ मानते हैं, जबकि राहुल गांधी को 8.9 प्रतिशत, सोनिया गांधी को 8.7 प्रतिशत और केजरीवाल को मात्र 7 प्रतिशत लोग ही ‘आईकॉन’ मानते हैं।

ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय की चांसलर मोदी को गुरु मानती हैं- ऐसा नहीं है कि देश की जनता ही प्रधानमंत्री मोदी के निर्णयों, भाषणों और व्यवहार से प्रभावित है, बल्कि विश्व के उच्च संस्थानों के विशेषज्ञ भी प्रधानमंत्री मोदी की प्रबंधन-कुशलता की कायल है। ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय की पहली महिला चांसलर लुईस रिचर्डसन ने प्रधानमंत्री मोदी के प्रबंधन की कुशलता की तारीफ करते हुए अपने विद्यार्थियों से कहा कि “If there’s anybody who can teach you better management skills than us, it’s the Indian PM. You should listen to his speeches often”.

मार्केटिंग गुरु फिलिप कोटलर मानते हैं कि मोदी सब-कुछ जानते हैं- विश्व में मार्केटिंग और ब्रॉडिंग के गुरु और दुनिया की सभी राजनीतिक हस्तियों को परामर्श देने वाले फिलिप कोटलर भी मानते हैं कि मोदी के पास सभी कुछ मौजूद है और उनको बताने के लिए कुछ भी उनके पास नहीं है। कोटलर मानते हैं कि प्रधानमंत्री मोदी ने अपने गुणों और परिश्रम से इस ऊंचाई को प्राप्त किया है। वे कहते हैं-“He is often mistaken to have marketed himself to fame, but I actually feel it is his work ethic and set of values that helped him catch up,”

दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति बिल गेट्स भी प्रधानमंत्री मोदी का लोहा मानते हैं- विश्व में सबसे अमीर और माइक्रोसॉफ्ट कंपनी के मालिक बिल गेट्स भी प्रधानमंत्री की सूझ-बूझ और निर्णय-क्षमता के कायल हैं। उनका कहना है कि दुनिया के कई राष्ट्र-प्रमुखों को देखा है, जो दबावों से प्रभावित होकर अपना निर्णय बदल देते हैं, लेकिन नरेन्द्र मोदी को कभी दबावों में निर्णयों को बदलते हुए नहीं देखा है। बिल गेट्स कहते हैं कि “I have seen many leaders failing to perform under pressure, but PM Narendra Modi is perhaps the only leader I’ve come across who’s unaffected under pressure”.

प्रधानमंत्री मोदी के निर्णय, समस्याओं के समाधान के लिए होते हैं- प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश की समस्याओं के समाधान के लिए राजनीतिक लाभ-हानि से परे हटकर निर्णय लिए हैं, जिसका समर्थन देश की जनता ही नहीं, हर क्षेत्र के विशेषज्ञ भी करते हैं। देश में गंदगी की समस्या से निपटने के लिए उनके द्वारा उठाया गया स्वच्छता अभियान का कदम हो या भ्रष्टाचार और कालेधन को खत्म करने के लिए नोटबंदी व जीएसटी को लागू करने का कदम हो, सभी ने इन निर्णयों की प्रशंसा की है। सभी जानते हैं कि इन निर्णयों से देश ने जो मार्ग चुना है, उससे देश को जबर्दस्त लाभ होगा, लेकिन लाभ मिलने में थोड़ा समय अवश्य लगेगा।

प्रधानमंत्री के निर्णयों ने देश की दशा के साथ दिशा को भी परिवर्तित कर दिया है और इस बात को देश की जनता बखूबी समझती है, इसलिए आज भी नरेन्द्र मोदी भारतीय राजनीति में अजेय हैं।

Leave a Reply