Home समाचार नासिक रैली ने जता दिया कि महाराष्ट्र का आशीर्वाद भाजपा के साथ...

नासिक रैली ने जता दिया कि महाराष्ट्र का आशीर्वाद भाजपा के साथ है : पीएम मोदी 

207
SHARE

12 दिनों में दूसरी बार महाराष्ट्र आए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नासिक में अपने संबोधन की शुरुआत मराठी में की। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की महाजनादेश यात्रा के समापन समारोह में शामिल होने नासिक आए थे। महाजनादेश यात्रा के समापन पर आयोजित रैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा ‘आज मैं एक विशेष धन्यता अनुभव कर रहा हूं, मैं इसे अपने जीवन का बहुमूल्य पल मानता हूं… क्योंकि आज छत्रपति शिवाजी महाराज के वंशज छत्रपति उदयन जी ने खुद मेरे सिर पर छत रखी है। यह सम्मान भी है और छत्रपति शिवाजी महाराज के प्रति दायित्व का संकेत भी है। नासिक की इस पवित्र धरती और महाराष्ट्र के कोटि-कोटि जन हमें आशीर्वाद दें ताकि इसकी इज्जत के लिए अपनी जिंदगी खपा दूं।”  

अपने संबोधन में मोदी ने कहा कि हमारे यहां सांस्कृतिक परंपरा रही है यात्रा की, यह परंपरा सदियों से चली आ रही है. रामेश्वरम से कोई जाता है और गंगाजल लेकर आता है और उनका अभिषेक करता है। यात्रा की यह भी परंपरा रही है कि यदि परिवार के सारे लोग यात्रा पर नहीं जा पाते हैं तो यात्रा से लौटने वाले को नमस्कार करने से आधा पुण्य मिल जाता है। “मैं भी देवेंद्र जी को नमन करने आया हूं, क्योंकि देवेंद्र जी को 4 हजार किलोमीटर की यात्रा के दौरान कोटि-कोटि लोगों से मिले आशीर्वाद के कारण उनके भीतर आध्यात्मिक चेतना को जगाया है, उनसे मिलने के बाद महाराष्ट्र के इन लोगों का आशीर्वाद का कुछ हिस्सा मैं भी लेकर जाऊंगा।“  

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन के दौरान अप्रैल में हुए  लोकसभा चुनाव के दौरान इंदौरी की अपनी रैली की तुलना करते हुए नासिक रैली को उससे बड़ा बताया। उन्होंने कहा कि इंदौरी की सभा में उमड़े जन-सैलाब ने ही पूरे देश में भाजपा की जीत पक्की कर दी थी, जबकि नासिक की रैली तो उससे भी आगे बढ़ गई है। देवेंद्र जी को आशीर्वाद देने के लिए यह महासैलाब उमर आया है। यह लोकतंत्र के कुंभ का परिचय दे रहा है। महाराष्ट्र की जनता ने यह ठान ली है कि आशीर्वाद उसी को मिलेंगे जो आशा के अनुरूप काम करेगा। पीएम मोदी ने राजनीतिक पंडितों से आह्वान करते हुए कहा कि यहां की जनता को अवगत कराएं कि राजनीतिक अस्थिरता के कारण महाराष्ट्र जिस तेज गति से आगे बढ़ सकता था नहीं बढ़ पाया क्योंकि महाराष्ट्र राजनीतिक अस्थिरता के जाल में फंसा था। महाराष्ट्र देश को जिस सामर्थ्य के साथ आगे ले जा सकता था नहीं ले जा पाया। उन्हें लोगों को बताना चाहिए कि कैसे मुंबई मायानगरी की चकाचौंध में महाराष्ट्र के दूरदराज और ग्रामीण इलाके राजनीतिक अस्थिरता के शिकार बनते रहे।     

महाराष्ट्र को दूसरा काशी कहा जाता है, ज्ञान की नगरी कही जाती है। इस धरती ने ज्योतिबा फुले से लेकर भीमराव आंबेडकर तक जैसे तेजस्वी और ओजस्वी महापुरुषों को जन्म दिया है। जिन शिवाजी महाराज की चरणरज आज भी हमलोगों को ऊर्जा देती है उस महाराष्ट्र में किसी मुख्यमंत्री और किसी सरकार का लगातार पांच साल न चलना अपने आप में अचंभित करने वाली बात है। महाराष्ट्र के इतने बड़े कालखंड में अभी तक दो ही मुख्यमंत्री हुए हैं जिन्होंने अपना कार्यकाल पूरा किया है। पहला हैं वसंत राव और दूसरे हैं देवेंद्र जी। देवेंद्र जी ने पिछले पांच साल तक अनवरत मेहनत कर महाराष्ट्र की सेवा की। उन्होंने अफसोस जताया कि काश पूर्व में भी पहले की सरकारें पांच साल तक चलीं होतीं। पीएम मोदी ने कहा कि पूर्ण बहुमत नहीं होने के बावजूद देवेंद्र जी ने महाराष्ट्र में स्थिर सरकार, प्रगतिशील सरकार, विकासशील सरकार और महाराष्ट्र को समर्पित सरकार चलाकर महाराष्ट्र को एक नई दिशा दी है। इसके साथ ही पीएम मोदी ने कहा है कि अब बारी महाराष्ट्र की है कि उसे देवेंद्र जी के नेतृत्व में स्थिर राजनीति का फायदा उठाना चाहिए।

प्रधानमंत्री ने कहा ‘मेरा सौभाग्य रहा है कि आप लोगों ने इतना आशीर्वाद दिया है। मैं गुजरात का रहने वाला हूं,  गुजरात आप ही का छोटा भाई है, कभी हम एक थे, एक ही थाली में खाना खाते थे। फिर गुजरात अलग हुआ महाराष्ट्र अलग हुआ। गुजरात के पूरे जीवन में सबसे लंबे समय तक मुख्यमंत्री बनने का अवसर वहां की जनता ने मुझे दिया’। पीएम मोदी ने पिछले लोकसभा चुनाव की चर्चा करते हुए कहा कि साठ साल के बाद पहली बार एक सरकार दोबारा चुनकर आई और पहले से ज्यादा ताकत लेकर आई। उन्होंने कहा कि जब जनता ताकत देती है तो सरकार किस ताकत से काम करती है। सौ दिनों में सरकार के काम करने का नजारा देख लिया है। मोदी ने अपनी सरकार के बेहतर कार्य का श्रेय जनता के समर्थन और आदेश को दिया। उन्होंने कहा कि पांच साल पहले जो जिम्मेदारी आपने सौंपी थी मुख्यमंत्री के रूप में देवेंद्र जी ने अपने कार्य का रिपोर्ट कार्ड आपके सामने रखा।

मोदी ने कहा कि देवेंद्र जी के नेतृत्व में बीते पांच साल में महाराष्ट्र को स्थिरता मिली, विकास मिला और कानून व्यवस्था का विश्वास मिला। इतना ही नहीं पिछले पांच सालों में सामाजिक सद्भाव मिला सहकार मिला और सरोकार का भाव भी मिला। बीते पांच साल में महाराष्ट्र को आधुनिक इन्फ्रास्ट्रक्चर का जाल मिला वही यहां की सांस्कृतिक भव्यता को मान और सम्मान भी मिला। इतना ही नहीं इन पांच सालों में महाराष्ट्र में निवेश का बेहतरीन माहौल मिला, वहीं किसान को बेहतर सुविधाएं और सहयोग मिला। यहां की बहनों को मुद्रा ऋण स्व सहायता समूहों से स्वरोजगार के नए अवसर मिले। ये सिर्फ फड़णवीस सरकार का रिपोर्ट कार्ड नहीं बल्कि महाराष्ट्र के उत्थान की कहानी है। मोदी ने कहा कि आने वाले समय में और भव्यता का संकेत समाया हुआ है। भाजपा की हर सरकार की यह विशेषता रही है कि वह अपने परफॉर्मेंस का निरंतर हिसाब देती रहे।

पीएम मोदी ने अपना वादा याद दिलाते हुए कहा कि उन्होंने कहा था कि देश के विकास की गति तेज होगी और समय-सीमा के भीतर होगी। इतना ही नहीं अपने हर कार्य का हिसाब समय-समय पर जनता के दरबार में आकर देता भी रहूंगा। उन्होंने केंद्र सरकार के सौ दिन पूरे होने का जिक्र करते हुए कहा कि इस सरकार का पहला शतक देश के सामने हैं। उन्होंने कहा कि इस पहले शतक में धार भी है और रफ्तार भी है। इतना ही नहीं आने वाले पांच वर्षों की साफ तस्वीर भी है। 

नरेंद्र मोदी ने कहा कि केंद्र सरकार के पहले शतक में देश समाज और दुनिया में नए भारत के नए दृष्टिकोण की झलक है। कठिन चुनौतियों से टक्कर लेने की ललक भी है, पहले ही शतक में विकास का जोश भी है और भारत की वैश्विक ताकत का संदेश भी है। इस पहले शतक में प्रोमिश भी है और परफर्मेंस भी है इसके साथ ही डिलिवरी भी है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा है हमने जिस पीएम किसान निधि सम्मान योजना लागू करने का वादा किया था उसे पूरा कर दिया है। इसके तहत अभी तक देश भर में 20 हजार करोड़ रुपये से अधिक की रकम देश के किसानों के खाते तक पहुंच गई है। 15 सौ करोड़ से अधिक की रकम सिर्फ महाराष्ट्र के किसानों के खाते में पहुंची है। इसके साथ ही उन्होंने भाजपा द्वारा किए गए उन सारे वादों के बारे में बताया जो पहले सौ दिनों में पूरे कर दिए गए हैं। पीएम मोदी ने घर-घर जल पहुंचाने के बारे में भी बताया। उन्होंने कहा कि जैसे शौचालय का काम चलाया, बिजली का चलाया उसी प्रकार ठान लिया है कि अब घर-घर पानी पहुंचाएंगे। पशुधन की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि देश के 50 करोड़ पशुधन को टीकाकरण का अभियान चलाया है। केंद्र सरकार 462 एकलव्य स्कूल बनाकर देश भर में इसका जाल बिछाने का वादा पूरा करने की दिशा में आगे बढ़ चुकी है।

रक्षा क्षेत्र पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि अपनी सेना के सशक्तिकरण के लिए हाल ही में दो महाशक्तिशाली हेलीकॉप्टर हमारी सैन्य शक्ति के हिस्सा बन चुके हैं। और शीघ्र ही राफेल फाइटर जेट भी हमारी वायु सेना को सशक्त करेगा। इतना ही मोदी ने कहा कि तीनों सेना के बीच बेहतर तालमेल बढ़ाने के लिए चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ के पद सृजित करने का फैसला 15 अगस्त को कर लिया और उसे आगे भी बढ़ा दिया। देश की रक्षा को लेकर पहले की सरकार की टालू रवैया रहा है। हमारी सेना ने साल 2009 में एक लाख 86 हजार बुलेटप्रूफ जैकेट की मांग की थी। लेकिन 2014 तक सेना की इस जरूरत पर ध्यान नहीं दिया गया। लेकिन जब भाजपा-एनडीए की सरकार आई तो खरीद की प्रक्रिया शुरू की। बीते पांच सालों में हमने न केवल सेना की जरूरत पूरी की बल्कि आज देश उससे भी एक कदम आगे बढ़ चुका है। अब भारत उन चंद देशों में शामिल हो गया है जो अंतरराष्ट्रीय स्तर के बुलेटप्रूफ जैकेट बनाता है। इतना ही नहीं दुनिया के सौ देशों में भारत में बनी जैकेट निर्यात हो रही है।

पीएम मोदी ने कहा कि देश की उम्मीद ही हमारे लिए आदेश होता है, हम जो वादा करते हैं उसे पूरा कर के दिखाते हैं। हमने वादा किया था जम्मू एवं कश्मीर और लद्दाख के समाधान के लिए नई कोशिश और नए प्रयास करेंगे। आज संतोष के साथ कह सकता हूं कि देश उन सपनों को पूरा करने उस दिशा में आगे बढ़ चुका हूं।

जम्मू-कश्मीर में देश के संविधान को समग्रता से लागू करना संपूर्ण देश का फैसला है। यह हमारी प्रतिबद्धता तो थी ही, लेकिन यह फैसला जम्मू-कश्मीर के विकास के लिए भी महत्वपूर्ण है। देश के इस फैसले के बाद अब हमे नारा लगाना है, हमे नया कश्मीर बनाना है, वहां फिर से स्वर्ग बनाना है, हर कश्मीरियों को गले लगाना है। पीएम ने कहा कि जिस धरती पर 42 हजार लोग बलिदान हुए अब उस कश्मीर को एक बार फिर से स्वर्ग बनाना है। दिल्ली के गलत नीतियों के कारण जितना उन्होंने झेला है, अब समय आ गया है उन्हें यातनाओं से मुक्ति दिलाने का। पीएम मोदी ने कहा कि इस राष्ट्रहित के फैसले में भी कांग्रेस और एनसीपी के नेताओं को जैसा सहयोग करना चाहिए वैसा दिखता नहीं। वे तो राष्ट्रहित के विरोध में बयान दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस का कन्फ्यूजन तो समझ में आता है लेकिन शरद पवार को पड़ोसी देश अच्छा लगता है, यह समझ से पड़े है।

इसके साथ ही पीएम मोदी ने देश में सफल हुए योजनाओं के बारे में भी बताया। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र सहित पूरे देश में सवा दो करोड़ घर बन चुके हैं। इतना ही नहीं उज्ज्वला योजना के तहत अभी तक देश में आठ करोड़ गरीबों को मुफ्त रसोई गैस मिल चुकी है।

अंत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में अयोध्या में राम मंदिर को लेकर अनाप शनाप बयानबाजी करने वालों को भी आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि देश के हर नागरिक का सुप्रीम कोर्ट के प्रति आदर उसका कर्तव्य होता है। राम मंदिर के मामले में सुप्रीम कोर्ट सारा काम कर रहा है फिर भी कुछ बयानबहादुर अड़ंगा लगाने पर तुले हैं। उन्होंने ऐसे लोगों से बिनती की है कि वे अनाप शनाप बयान देने से बचें.

 

 

 

Leave a Reply