Home समाचार पीएम मोदी ने मंत्रियों को दी सलाह, घर की बजाय ऑफिस से...

पीएम मोदी ने मंत्रियों को दी सलाह, घर की बजाय ऑफिस से करें काम

178
SHARE

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंत्रिपरिषद की पहली बैठक में जहां अपने मंत्रियों को समय का पाबंद होने की सलाह दी वहीं घर की बजाय दफ्तर में ज्यादा समय देने और वहीं से काम करने की सलाह दी। पीएम मोदी ने अपने मंत्रियों के साथ क्या करें और क्या न करें की एक सूची भी साझा की। मंत्रिपरिषद की इस पहली बैठक में उन्होंने वरिष्ठ मंत्रियों को संरक्षक की भूमिका निभाने के साथ अपने कनिष्ठ मंत्रियों को ज्यादा काम सौंपने को कहा। उन्होंने कार्य की प्रोडक्टिविटी में सुधार के लिए वरिष्ठ मंत्रियों को अपने जूनियर मंत्रियों के साथ फाइल साझा करने की सलाह दी।

कनिष्ठ मंत्रियों से फाइल साझा करने की सलाह
बुधवार को मंत्रिपरिषद की पहली बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने वरिष्ठ मंत्रियों से कनिष्ठ मंत्रियों को प्रोत्साहित करने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि कैबिनेट मंत्रियों को अपने जूनियर सहयोगियों के साथ मिलकर प्रस्तावों को मंजूरी देनी चाहिए। उन्होंने कहा कि इससे जहां प्रोडक्टिविटी सुधरेगी और कार्य करने की गति भी बढ़ेगी।

मंत्रालय के पांच साल के कार्य का खाका तैयार करें
इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने मंत्रियों से संबंधित मंत्रालय के पांच सालों के कार्यों का खाका तैयार करने को भी कहा है। सूत्रों के मुताबिक पीएम मोदी ने हर मंत्रालय के लिए पांच साल के एजेंडे के बारे में बात की और सरकार के पहले 100 दिनों में प्रभावी निर्णय लेने पर जोर दिया।

दफ्तर में होना चाहिए अधिक काम
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि मंत्रालय का काम घर की बजाए दफ्तर में होना चाहिए। इसलिए सभी मंत्रियों को समय पर दफ्तर पहुंचने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि मंत्रियों को अधिकारियों के साथ बैठक कर उनके साथ मंत्रालय में नवीन विकास के बारे में चर्चा करनी चाहिए। मंत्रियों को अधिकारियों के साथ ज्यादा समय बिताना चाहिए। प्रधानमंत्री स्वयं भी कार्यालय में रहकर ज्यादा समय तक काम करने को लेकर जाने जाते हैं।

पार्टी कार्यकर्ताओं से निरंतर मिलते रहें मंत्री
पीएम मोदी ने मंत्रिपरिषद के अपने साथियों से बात करते हुए कहा कि उन्हें पार्टी कार्यकर्ताओं की उपेक्षा करने की बजाय उनसे मिलते रहे। उन्होंने कहा कि पार्टी कार्यकर्ताओं से मिलने के लिए उन्हें एक दिन सुनिश्चित कर पार्टी कार्यालय में बैठना चाहिए। मालूम हो कि भारी जनादेश के साथ पिछले महीने ही प्रधानमंत्री मोदी ने अपना दूसरा कार्यकाल शुरू किया है।

सांसदों को मिलने के लिए समय देने में टालमटोल न करें
पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि मंत्रियों को सांसदों से नियमित रूप से मिलते रहना चाहिए। सांसदों को मिलने के लिए समय मांगने पर टालमटोल नहीं किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि जब भी कोई सांसद उनसे मिलने का समय मांगें उन्हें तत्काल मिलने का समय देना चाहिए।

Leave a Reply