Home विपक्ष विशेष राफेल पर ये 8 झूठ बोलकर खुद Expose हुई ‘राहुल गांधी एंड...

राफेल पर ये 8 झूठ बोलकर खुद Expose हुई ‘राहुल गांधी एंड कम्पनी’

357
SHARE

राफेल डील को लेकर राहुल गांधी लगातार झूठ बोल रहे हैं। हालांकि उनके इस झूठ को डसॉल्ट कंपनी के CEO एरिक ट्रेपियर ने Expose कर दिया है। उन्होंने कहा कि राफेल डील में पूरी पारदर्शिता है और यह दो देशों की सरकारों के बीच हुआ है। उन्होंने साफ किया कि रिलायंस का सिर्फ 10 प्रतिशत ऑफसेट निवेश ही है और कंपनी इस वक्त 100 अन्य कंपनियों के साथ बातचीत की प्रक्रिया में है। इनमें से 30 के साथ पार्टनरशिप पक्की हो चुकी है।

जाहिर है फ्रेंच वेबसाइट Mediapart ने फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद के नाम पर जो झूठी रिपोर्ट दी थी, उसका खुलासा डसॉल्ट के CEO  ने ही कर दिया है। दरअसल राफेल डील पर राहुल गांधी एंड कंपनी लगातार दुष्प्रचार कर रही है। हालांकि वह अपनी इस साजिश में खुद ही Expose भी हो रही है। आइये एक नजर डालते हैं राहुल गांधी के ऐसे ही 8 झूठ, और जानते हैं कि कैसे वह Expose भी हो  हैं।

पहला झूठ
फ्रेंच मीडिया हाउस की रिपोर्ट को ट्विस्ट किया। डसॉल्ट के CEO ने इसे खारिज कर दिया।

दूसरा झूठ
सुप्रीम कोर्ट पर राफेल डील पर दबाव बनाया। कोर्ट ने साफ कहा कि राफेल की कीमत नहीं जाननी।

तीसरा झूठ
डिफेंस मिनिस्ट्री के एक अधिकारी के ट्रांसफर पर राहुल ने झूठ बोला, जबकि वह ट्रेनिंग के लिए गए थे।

चौथा झूठ
फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति के ओलांद के नाम पर झूठ फैलाने की कोशिश, ओलांद ने ही उस झूठ को एक्सपोज कर दिया।

पांचवां झूठ
ओलांद का नाम लेकर कहा कि उन्होंने पीएम मोदी के बारे में अपशब्द कहे, हालांकि ओलांद ने इसका खंडन किया।

छठा झूठ
राहुल गांधी ने संसद में कहा कि फ्रांस के राष्ट्रपति से मिले थे। फ्रांस की सरकार ने इसका खुद खंडन किया।

सातवां झूठ
राहुल गांधी राफेल के अलग-अलग दाम बताते हैं, जबकि मोदी सरकार ने फुली लोडेड राफेल डील की है।

आठवां झूठ
राहुल ने कहा कैबिनेट कमिटी ऑन डिफेंस को लूप में नहीं लिया, जबकि अगस्त 2016 को CCS ने खरीद को मंजूरी दी थी।

LEAVE A REPLY