Home चार साल बेमिसाल मोदी राज में 2018 में भारत के टॉप 6 विश्व कीर्तिमान

मोदी राज में 2018 में भारत के टॉप 6 विश्व कीर्तिमान

928
SHARE

एक समय था, जब पूरी दुनिया में भारत की पहचान सिर्फ और सिर्फ गरीबी, भूखमरी से पीड़ित लोगों की हुआ करती थी। एक समय था, जब भारत को संपेरों और मदारियों वाला देश समझा जाता था। लेकिन मोदी सरकार के आते ही भारत के प्रति पूरी दुनिया का नजरिया बदलना शुरू हो गया। साल 2018 में ही कई ऐसी घटनाएं हुईं, जिसकी तरफ पूरी दुनिया की नजरें टिकी रहीं। आइए देखते हैं मोदी सरकार के नेतृत्व में साल 2018 में भारत ने ऐसे कौन से कीर्तिमान स्थापित किए।

जितनी बड़ी प्रतिभा, उतनी बड़ी प्रतिमा

सरदार पटेल की 143वीं जयंती के मौके पर जब नर्मदा जिले में सरदार सरोवर बांध के पास पटेल की प्रतिमा का अनावरण हुआ, तो दुनिया भी इसे टकटकी बांध कर देखती रह गई। देश के प्रथम गृहमंत्री रहे सरदार वल्लभभाई पटेल के सम्मान में बनाई गई दुनिया की सबसे ऊंची यानी 182 मीटर ऊंची ‘स्टैचू ऑफ यूनिटी’ अमेरिका की ‘स्टैचू ऑफ लिबर्टी’ से दोगुनी ऊंची है। 

दुनिया के लिए मॉडल योजना बनी ‘आयुष्मान भारत’

23 सितंबर 2018 को झारखंड की राजधानी रांची में पीएम मोदी ने जब देश के 50 करोड़ लोगों के लिए इतनी बड़ी योजना का शुभारंभ किया, तो देश ही नहीं दुनिया को भी इस पर अचरज हुआ। सभी को यही लग रहा था कि भारत जैसा गरीब देश हर गरीब परिवार को साल में पांच लाख रुपये की सहायता की गारंटी कैसे दे सकता है ?

लेकिन, पीएम मोदी ने अपने जादुई इरादों से इसे पूरा करके दिखा दिया। तीन महीने से कम समय में ही इस योजना के जरिए ऑपरेशन कराने वाले गरीबों की संख्या तीन लाख तक पहुंच गई। अब पूरी दुनिया में इसे एक मॉडल के तौर पर देखा जा रहा है। 

कैगा परमाणु बिजलीघर ने बनाया विश्व रिकॉर्ड

इसे पीएम मोदी का करिश्मा ही कहेंगे कि अर्थशास्त्र से लेकर अंतरिक्षशास्त्र और विधि से लेकर विज्ञान तक भारत नित नए कीर्तिमान गढ़ रहा है। अब परमाणु ऊर्जा के क्षेत्र में भारत ने एक नया विश्व रिकॉर्ड बना दिया है। कर्नाटक स्थित कैगा परमाणु बिजलीघर में देश में निर्मित कैगा-1 परमाणु ऊर्जा इकाई ने 940 दिन तक बिना रुके लगातार काम करने का रिकॉर्ड बनाया है। 

जब दुनिया ने देखी उभरते भारत की ताकत

इस साल राजपथ पर गणतंत्र दिवस समारोह को जो ऐतिहासिक नजारा देखने को मिला, उसे दुनिया में भारत के बढ़ते असर का ही परिणाम कहेंगे। ऐसा पहली बार हुआ जब पीएम मोदी के आमंत्रण को स्वीकार कर सभी दस आसियान देशों के राष्ट्राध्यक्षा गणतंत्र दिवस समारोह में शामिल हुए।

कोटा में बना सामूहिक योग का विश्व कीर्तिमान 

साल 2014 में संयुक्त राष्ट्र के अपने संभाषण में पीएम मोदी ने दुनिया के देशों से योग को अपनाने की बात कही थी। जिसे करीब दो सौ देशों का समर्थन मिला था। 21 जून 2015 को पहले अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के मौके पीएम मोदी के साथ रिकॉर्ड संख्या में लोगों ने राजपथ पर योग किए।

इस साल भी प्रधानमंत्री ने देहरादून में योग कार्यक्रम में करीब 55 हजार लोगों के साथ बैठकर योगासन किया, वहीं कोटा में स्वामी रामदेव के साथ 2 लाख से ज्यादा लोगों ने एक साथ योग कर वर्ल्ड रिकॉर्ड बना दिया। 

स्वच्छता में जबलपुर ने बनाया विश्व रिकॉर्ड

प्रधानमंत्री मोदी द्वारा शुरू किया स्वच्छता अभियान नित नए कीर्तिमान स्थापित कर रहा है। हाल ही में जबलपुर नगर निगम ने स्वच्छता के क्षेत्र में विश्व रिकॉर्ड बनाया, जब एक साथ साढ़े तीन लाख लोगों ने स्वच्छता से जुड़े कार्य कर इतिहास रच दिया। 

Leave a Reply